Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Jun 2016 · 1 min read

गज़ल

मेरे दिल पे ख्वाबों का पहरा रहा है
मुहब्बत को दिल ये तडपता रहा है

न तारे से पूछो कभी दर्द उसका
जो अम्बर से नीचे ही गिरता रहा है

मेरा आइना दिल निशाने पे उसके
वो पत्थर लिये रोज फिरता रहा है

किसी मां से पूछो शहाद्त की कहानी
दिया जिसके घर का भी बुझता रहा है

वफ़ा का सिला जब जफ़ा में मिला हो
जिगर में यही दर्द उठता रहा है

दया भावना से है महरूम इन्सां
अब इन्सान इन्सान को खा रहा है

सदा पास रह भी रहा फासला सा
वफा को जफा हश्र मिलता रहा है

1 Like · 181 Views
You may also like:
बुंदेली दोहा-डबला
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Writing Challenge- साहस (Courage)
Sahityapedia
भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*"खुद को तलाशिये"*
Shashi kala vyas
उतरते जेठ की तपन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
फर्ज
shabina. Naaz
रोग ने कितना अकेला कर दिया
Dr Archana Gupta
तेरा नाम मेरे नाम से जुड़ा
Seema 'Tu hai na'
तितली
लक्ष्मी सिंह
*बुढ़ापे में दूसरी शादी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मेरी तडपन अब और न बढ़ाओ
Ram Krishan Rastogi
जर्जर विद्यालय भवन की पीड़ा
Rajesh Kumar Arjun
दुनिया की आदतों में
Dr fauzia Naseem shad
✍️बात मुख़्तसर बदल जायेगी✍️
'अशांत' शेखर
हर इक वादे पर।
Taj Mohammad
असतो मा सद्गमय
Kanchan Khanna
मेरी दिव्य दीदी - एक श्रृद्धांजलि
Shyam Sundar Subramanian
जीतकर ही मानेंगे
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पहले ग़ज़ल हमारी सुन
Shivkumar Bilagrami
कुछ भी तो ठीक नहीं
Shekhar Chandra Mitra
काश
Harshvardhan "आवारा"
💐 गुजरती शाम के पैग़ाम💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चिड़िया का घोंसला
DESH RAJ
धूल जिसकी चंदन है भाल पर सजाते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
आईना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
💐💐ये पदार्थानां दास भवति।ते भगवतः भक्तः न💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
माँ
Prabhat Prajapati
जन्मदिवस का महत्व...
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
तुम्हें देखा
Anamika Singh
“IF WE WRITE, WRITE CORRECTLY “
DrLakshman Jha Parimal
Loading...