Aug 29, 2016 · 1 min read

गज़ल :– जमीं का चार गज होगा !!

गज़ल :– जमीं का चार गज होगा !!
बहर :– 1222 -1222 -1222 -1222

शिवालय भी सुसज्जित हो सुशोभित आज हज होगा !!
तुम्हारे होंठ से झड़ता जहाँ फूलों क रज होगा !

कहीं मुझको जला दो तुम कहीं उसको दफन कर दो !
वतन की कोंख का हिस्सा जमीं का चार गज होगा !!

भले ही बाँट लो मज़हब कहीं तुम चाँद सूरज में !
समंदर में समाहित वो कुमुदिनी या जलज होगा !!

खुले पर अर्ज करता वो जुड़े मैं मिन्नतें माँगू !
बता आखिर हथेली से कहीं नाता सुलझ होगा !!

गज़लकार :– अनुज तिवारी “इन्दवार”

6 Comments · 281 Views
You may also like:
सागर
Vikas Sharma'Shivaaya'
हम आ जायेंगें।
Taj Mohammad
Born again with love...
Abhineet Mittal
💐💐प्रेम की राह पर-15💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Kavita Nahi hun mai
Shyam Pandey
तुम्हीं हो मां
Krishan Singh
मृत्यु के बाद भी मिर्ज़ा ग़ालिब लोकप्रिय हैं
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मोहब्बत की दर्द- ए- दास्ताँ
Jyoti Khari
सम्मान करो एक दूजे के धर्म का ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
ये दिल मेरा था, अब उनका हो गया
Ram Krishan Rastogi
हक़ीक़त
अंजनीत निज्जर
प्रणाम नमस्ते अभिवादन....
Dr. Alpa H.
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
तुमसे कोई शिकायत नही
Ram Krishan Rastogi
मां ने।
Taj Mohammad
ऐ वतन!
Anamika Singh
ग़ज़ल
सुरेखा कादियान 'सृजना'
उबारो हे शंकर !
Shailendra Aseem
मेरे दिल का दर्द
Ram Krishan Rastogi
# पर_सनम_तुझे_क्या
D.k Math
ये जिंदगी एक उलझी पहेली
VINOD KUMAR CHAUHAN
श्री राम ने
Vishnu Prasad 'panchotiya'
हम जलील हो गए।
Taj Mohammad
नेकी कर इंटरनेट पर डाल
हरीश सुवासिया
आंचल में मां के जिंदगी महफूज होती है
VINOD KUMAR CHAUHAN
मैं
Saraswati Bajpai
कभी भीड़ में…
Rekha Drolia
ये चिड़िया
Anamika Singh
ऐसे थे मेरे पिता
Minal Aggarwal
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
Loading...