Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

गुलशन फिर आबाद होगा …

तू सब्र कर सब्र का फल मीठा होगा ,
यह तेरा गुलशन फिर आबाद होगा

फिर खिलेंगे रंग बिरंगे खूबसूरत फूल ,
डाली डाली पत्ता पत्ता हरा भरा होगा ।

जंगल भी फिर से आबाद होंगें और ,
पशु पक्षियों का आजादी से घूमना होगा।

नदियों का आंचल फिर से पवित्र निर्मल ,
और एक आईने की भांति साफ होगा ।

पर्वत जो गर्व से सिर उठाके खड़े है ,
उनका मस्तक कभी नीचा नहीं होगा।

धरती हरियाली की चादर ओढ़ सकेगी ,
चारों और सुंदर कालीन बिछा होगा।

खेत भी खुशी से लहलहाएंगे ,झूमेंगे ,
परिश्रमी किसान का जीवन महकेगा ।

आसमान सजाएगा सितारों से उसकी मांग ,
सूर्य धरती को किरणों का ताज पहनाएगा ।

देवता बरसाएंगे स्वर्ग से आशिषो के फूल ,
ईश्वर का स्नेह वर्षा रूप में उसपर बरसेगा।

धरती ! तेरा गुलशन फिर से आबाद होगा,
तुझे बस ईश्वर पर अपना भरोसा रखना होगा ।

4 Likes · 6 Comments · 386 Views
You may also like:
सच को ज़िन्दा
Dr fauzia Naseem shad
दिल से रिश्ते निभाये जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
योग दिवस पर कुछ दोहे
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
#कविता//ऊँ नमः शिवाय!
आर.एस. 'प्रीतम'
हाइकु:(कोरोना)
Prabhudayal Raniwal
ईद के बहाने ही सही।
Taj Mohammad
तन्हा ही खूबसूरत हूं मैं।
शक्ति राव मणि
हमनें ख़ामोश
Dr fauzia Naseem shad
मेरी वाणी
Seema 'Tu haina'
कारस्तानी
Alok Saxena
मेरी बेटी
लक्ष्मी सिंह
दूर रहकर तुमसे जिंदगी सजा सी लगती है
Ram Krishan Rastogi
सुरज से सीखों
Anamika Singh
सुनो ना
shabina. Naaz
कविता –सच्चाई से मुकर न जाना
रकमिश सुल्तानपुरी
मेरी बेटियाँ
लक्ष्मी सिंह
दर्द को मायूस करना चाहता हूँ
Sanjay Narayan
किसी का जला मकान है।
Taj Mohammad
✍️अज़ीब इत्तेफ़ाक है✍️
'अशांत' शेखर
✍️करम✍️
'अशांत' शेखर
अपने और जख्म
Anamika Singh
माँ
Dr Archana Gupta
बताओ तो जाने
Ram Krishan Rastogi
What you are ashamed of
AJAY AMITABH SUMAN
यह कौन सा विधान है
Vishnu Prasad 'panchotiya'
बेचारी ये जनता
शेख़ जाफ़र खान
हे प्रभु श्री राम...
Taj Mohammad
# बारिश का मौसम .....
Chinta netam " मन "
जेब में सरकार लिए फिरते हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
उबारो हे शंकर !
Shailendra Aseem
Loading...