Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jun 2023 · 1 min read

!! गुलशन के गुल !!

तिरंगे फिज़ा में लहराने लगे
देख गुलशन के गुल मुस्कुराने लगे

मुस्कुराने लगे
मुस्कुराने लगे
देख गुलशन के गुल मुस्कुराने लगे

ज़ुल्म गोरों का सदियों तक सहते रहे
तीर शब्दों के हृदय को छलते रहे
दर्द उठते रहे, अश्क़ गिरते रहे
गिरते अश्क़ो को जब वो उठाने लगे
देख गुलशन………………………….

ग़ुलाम हम थे, वो हमको डराते रहे
ज़ुल्म के दायरे को बढ़ाते रहे
ज़ुल्म सहनें की जब इन्तेहा हो गई
लम्हें खुशियों के वो पास लाने लगे
देख गुलशन…………………………..

तराना आज़ादी वो गाते रहे
हौसला साथियों का बढ़ाते रहे
ज़ंग लड़ते रहे, आगे बढ़ते रहे
लहू गोरों का जब वो बहाने लगे
देख गुलशन…………………………..

ज़ंग -ए-आज़ादी में सर कटाते रहे
अर्थी अरमानों की हम उठाते रहे
देश अपना था पर वो सताते रहे
देश को छोड़कर जब वो जाने लगे
देख गुलशन……………………………..

हम कसीदे शहीदों के पढ़ने लगे
“चुन्नू” आज़ादी के गीत गढ़ने लगे
आंसू आंखों में खुशियों के आने लगे
लोग ज़श्न -ए-आज़ादी मनाने लगे
देख गुलशन……………………………….

•••• कलमकार ••••
चुन्नू लाल गुप्ता-मऊ (उ.प्र.)

1 Like · 2 Comments · 323 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शहीद भारत यदुवंशी को मेरा नमन
शहीद भारत यदुवंशी को मेरा नमन
Surabhi bharati
मन और मस्तिष्क
मन और मस्तिष्क
Dhriti Mishra
बसंत का मौसम
बसंत का मौसम
Awadhesh Kumar Singh
Think
Think
सिद्धार्थ गोरखपुरी
Religious Bigotry
Religious Bigotry
Mahesh Ojha
Daily Writing Challenge : समय
Daily Writing Challenge : समय
'अशांत' शेखर
सच
सच
Vikas Sharma'Shivaaya'
*बहन को भाई की परदेस में भी याद आती है(हिंदी गजल/ गीतिका)*
*बहन को भाई की परदेस में भी याद आती है(हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
पंडित जी
पंडित जी
आकांक्षा राय
हर रिश्ता
हर रिश्ता
Dr fauzia Naseem shad
सूरज का ताप
सूरज का ताप
सतीश मिश्र "अचूक"
ज्ञान के प्रकाश सी सुबोध मातृभाष री।
ज्ञान के प्रकाश सी सुबोध मातृभाष री।
Neelam Sharma
सफल व्यक्ति
सफल व्यक्ति
Paras Nath Jha
सेमल के वृक्ष...!
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
तिरंगा मन में कैसे फहराओगे ?
तिरंगा मन में कैसे फहराओगे ?
ओनिका सेतिया 'अनु '
हमारी तुम्हारी मुलाकात
हमारी तुम्हारी मुलाकात
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
■ किस से, कैसे और क्यों...?
■ किस से, कैसे और क्यों...?
*Author प्रणय प्रभात*
दोस्ती पर वार्तालाप (मित्रता की परिभाषा)
दोस्ती पर वार्तालाप (मित्रता की परिभाषा)
Er.Navaneet R Shandily
কিছু ভালবাসার গল্প অমর হয়ে রয়
কিছু ভালবাসার গল্প অমর হয়ে রয়
Sakhawat Jisan
मैं हिन्दुस्तान हूं।
मैं हिन्दुस्तान हूं।
Taj Mohammad
हम आज भी हैं आपके.....
हम आज भी हैं आपके.....
अश्क चिरैयाकोटी
माना के वो वहम था,
माना के वो वहम था,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
गरीबी में सौन्दर्य है।
गरीबी में सौन्दर्य है।
Acharya Rama Nand Mandal
संघर्ष वह हाथ का गुलाम है
संघर्ष वह हाथ का गुलाम है
प्रेमदास वसु सुरेखा
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
आव्हान
आव्हान
Shyam Sundar Subramanian
💐अज्ञात के प्रति-6💐
💐अज्ञात के प्रति-6💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
करम
करम
Fuzail Sardhanvi
" ना रही पहले आली हवा "
Dr Meenu Poonia
गीत
गीत
शेख़ जाफ़र खान
Loading...