Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jan 2022 · 2 min read

गुरु: गौरव के प्रतीक(लघुकथा)

*गुरु :गौरव के प्रतीक*/लघुकथा
————– —- ————
नेतलाल यादव

कल सुबह सोकर उठा ही था कि मोबाइल की रिंगटोन बज उठी।आँखों को मलते हुए मोबाइल उठाया और कॉल रिसीव किया तो उधर से आवाज़ आई – फोन कहाँ लगा है?
मैंने उत्तर दिया- आप जहाँ फोन लगाएं हैं, वहीं लगा है ! फोन आप लगाएं हैं !
फिर मैंने महसूस किया कि ये तो मेरे बचपन के गुरु चन्द्रकांत पाण्डेय जी की आवाज है । मैंने तुरंत फोन पर ही दण्डवत किया। गुरु जी ने भी आशीर्वाद देते हुए ,अपनी विदाई के सम्मान समारोह में उपस्थित रहने की बात कही ।
मैंने कहा-जी , मैं 11:30 बजे तक उपस्थित हो जाऊँगा ।
गुरु जी को वचन देने के बाद मैंने अपने हेडमास्टर श्री अमित कुमार त्रिपाठी जी से बात किया और कुछ उपहार मंगवाया ।समारोह स्थल तक पहुँचने के लिए इतिहास शिक्षक श्री अनिल वर्मा जी का सहयोग लिया और उनकी नई मोटरसाइकिल से समय पर उपस्थित हो गया ।
इस सम्मान समारोह में कोरोना काल के बावजूद भी गाँव-ग्रामीण, शिक्षा प्रेमी बुद्धिजीवी संघ के अधिकारी -गण मीडिया कर्मी बिजय चौरसिया और विभिन्न विद्यालयों के निजी व सरकारी शिक्षक मौजूद थे । सुबह से ही विद्यालय के प्रभारी प्रधानाचार्य श्री नारायण चौधरी और उनके सहयोगी शिक्षक कार्यक्रम को सफल बनाने में लगे हुए थे,बडी दक्षता के साथ ,श्री बिहारी बैठा जी के अध्यक्षता में मंच संचालन का कार्य श्री त्रिभुवन पाण्डेय कर रहे थे।आज एक सफल योद्धा, कर्मवीर,सौम्य मृदुभाषी, संस्कारी शिक्षक सरकारी फाइलों से विदा हो रहे थे ।सभी ने जी भरकर उनके गुणों का बखान किए थे ,अंत में गुरु जी ने अपने अध्यापक जीवन के सारगर्भित बातों को रखते हुए ,सबों से शिक्षा के साथ-साथ संस्कार भरने की बात कही । सचमुच उन्हीं के दिये संस्कार की बदौलत उनका यह शिष्य यशोगामी है। आज उनकी इस विदाई बेला पर मेरी आँखें सजल हो उठी थीं।

नेतलाल यादव ।
चरघरा नावाडीह, पंचायत-जरीडीह, थाना-जमुआ,जिला-गिरिडीह, झारखंड ।
पिन कोड-815318

Language: Hindi
Tag: लघु कथा
349 Views
You may also like:
आसमां में चांद अकेला है सितारों के बीच
आसमां में चांद अकेला है सितारों के बीच
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
आख़िरी मुलाक़ात
आख़िरी मुलाक़ात
N.ksahu0007@writer
नीति अनैतिकता को देखा तो,
नीति अनैतिकता को देखा तो,
Er.Navaneet R Shandily
तुमको बदनाम करेगी
तुमको बदनाम करेगी
gurudeenverma198
फिर जीवन पर धिक्कार मुझे
फिर जीवन पर धिक्कार मुझे
Ravi Yadav
में हूँ हिन्दुस्तान
में हूँ हिन्दुस्तान
Irshad Aatif
जिंदगी में किसी से अपनी तुलना मत करो
जिंदगी में किसी से अपनी तुलना मत करो
Swati
खुशी का नया साल
खुशी का नया साल
shabina. Naaz
~रेत की आत्मकथा ~
~रेत की आत्मकथा ~
Vijay kannauje
माँ कालरात्रि
माँ कालरात्रि
Vandana Namdev
माशूका
माशूका
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि’
डर को बनाया है हथियार।
डर को बनाया है हथियार।
Taj Mohammad
अक्सर आकर दस्तक देती
अक्सर आकर दस्तक देती
Satish Srijan
चौबोला छंद (बड़ा उल्लाला) एवं विधाएँ
चौबोला छंद (बड़ा उल्लाला) एवं विधाएँ
Subhash Singhai
एतबार उस पर इतना था
एतबार उस पर इतना था
Dr fauzia Naseem shad
ज्योतिष विज्ञान एव पुनर्जन्म धर्म के परिपेक्ष्य में ज्योतिषीय लेख
ज्योतिष विज्ञान एव पुनर्जन्म धर्म के परिपेक्ष्य में ज्योतिषीय लेख
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
एक तरफ
एक तरफ
*Author प्रणय प्रभात*
💐 Prodigy Love-5💐
💐 Prodigy Love-5💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चरित्र
चरित्र
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
मकर पर्व स्नान दान का
मकर पर्व स्नान दान का
Dr. Sunita Singh
साक्षात्कार- मनीषा मंजरी- नि:शब्द (उपन्यास)
साक्षात्कार- मनीषा मंजरी- नि:शब्द (उपन्यास)
Sahityapedia
मैथिली हाइकु कविता (Maithili Haiku Kavita)
मैथिली हाइकु कविता (Maithili Haiku Kavita)
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
Serious to clean .
Serious to clean .
Nishant prakhar
अलविदा
अलविदा
Dr Rajiv
*प्रकृति का नव-वर्ष 【घनाक्षरी】*
*प्रकृति का नव-वर्ष 【घनाक्षरी】*
Ravi Prakash
" अनमोल धरोहर बेटी "
Dr Meenu Poonia
जय अग्रसेन महाराज
जय अग्रसेन महाराज
Dr Archana Gupta
लालू प्रसाद यादव
लालू प्रसाद यादव
Shekhar Chandra Mitra
The Huge Mountain!
The Huge Mountain!
Buddha Prakash
माँ
माँ
श्याम सिंह बिष्ट
Loading...