Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

गुनो सार जीवन का…

गुनो सार जीवन का…

इधर-उधर मत डोलो
मन की आँखें खोलो

तोड़ो न दिल किसी का
असत्य कभी न बोलो

रखकर कर्म-तुला पर
सुख-दुख दोनों तोलो

प्रायश्चित के जल से
मल पापों का धो लो

लौट अतीत की ओर
बिखरे मनके पो लो

फैले बेल खुशी की
बीज नेह के बो लो

हो शरीक पर-गम में
पलभर पलक भिगो लो

करो न बैर किसी से
सबके अपने हो लो

बोलो अमृत वाणी
गरल न मन में घोलो

गुनो सार जीवन का
यादें मधुर सँजो लो

मूँँद लो थकी पलकें
नींद सुकूं की सो लो

– डॉ.सीमा अग्रवाल
मुरादाबाद (उ.प्र.)

3 Likes · 239 Views
You may also like:
बना लो कविता को सखी
Anamika Singh
जीवन जीने की कला, पहले मानव सीख
Dr Archana Gupta
निशां मिट गए हैं।
Taj Mohammad
कुछ ख़ास करते है।
Taj Mohammad
जय जय भारत देश महान......
Buddha Prakash
शुभ मुहूर्त
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*जल महादेव मैं तुम्हें चढ़ाने आया हूॅं (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
Gazal
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
कोई रिश्ता मुझे
Dr fauzia Naseem shad
तेरी रहबरी जहां में अच्छी लगे।
Taj Mohammad
हिंसा की आग 🔥
मनोज कर्ण
मजबूर ! मजदूर
शेख़ जाफ़र खान
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है। [भाग ७]
Anamika Singh
अश्रुपात्र A glass of years भाग 6 और 7
Dr. Meenakshi Sharma
मुस्ताकिल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बेचैनियाँ फिर कभी
Dr fauzia Naseem shad
Why Not Heaven Have Visiting Hours?
Manisha Manjari
मां के तट पर
जगदीश लववंशी
बंदिशे तमाम मेरे हक़ में ...........
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
✍️क़हर✍️
'अशांत' शेखर
छलिया जैसा मेघों का व्यवहार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
ग़ज़ल- राना सवाल रखता है
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ग़ज़ल
Anis Shah
दोस्ती का एहसास होता है
Dr fauzia Naseem shad
भारत माँ के वीर सपूत
Kanchan Khanna
“श्री चरणों में तेरे नमन, हे पिता स्वीकार हो”
Kumar Akhilesh
बेटी का संदेश
Anamika Singh
पुकार सुन लो
वीर कुमार जैन 'अकेला'
वो पहलू में आयें तभी बात होगी।
सत्य कुमार प्रेमी
“माँ भारती” के सच्चे सपूत
DESH RAJ
Loading...