#2 Trending Author

गीत- पढ़ लो पढ़ लो

पढ़ लो पढ़ लो भाई-बहना
÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷

इस दुनिया में अनपढ़ रहना अपना ही अपमान है
पढ़ लो पढ़ लो भाई-बहना पढ़ना काज महान है

तुम जो पीछे रह जाओगे अंधेरो में खो जाओगे
खिल जाओगे पढ़़ कर देखो क्या से क्या तुम हो जाओगे
शिक्षित हैं बस यारों मेरे उनका ही सम्मान है
पढ़ लो पढ़ लो भाई-बहना पढ़ना काज महान है

अब ध्यान रहे यह वक्त नहीं फिर लौट दुबारा आयेगा
यह पल यूँ ही जो बीत गया तो पल पल तू पछतायेगा
शिक्षा का है दौर नया पर तेरा किस पर ध्यान है
पढ़ पढ़ लो भाई-बहना पढ़ना काज महान है

दुख लगता है पन्ने पर जो कोई अंगूठा छाप लगे
सच कहता हूँ भाई मेरे ये जीवन का अभिशाप लगे
जान इसे पहचान कि जल्दी क्यों अबतक अनजान है-
पढ़ लो पढ़ लो भाई-बहना पढ़ना काज महान है

– आकाश महेशपुरी

442 Views
You may also like:
जीत-हार में भेद ना,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कविता क्या है ?
Ram Krishan Rastogi
विदाई की घड़ी आ गई है,,,
Taj Mohammad
हाइकु_रिश्ते
Manu Vashistha
आखरी उत्तराधिकारी
Prabhudayal Raniwal
ऐ मेघ
सिद्धार्थ गोरखपुरी
*अनुशासन के पर्याय अध्यापक श्री लाल सिंह जी : शत...
Ravi Prakash
अब कहां कोई।
Taj Mohammad
कोई हमारा ना हुआ।
Taj Mohammad
गुजर रही है जिंदगी अब ऐसे मुकाम से
Ram Krishan Rastogi
केंचुआ
Buddha Prakash
चलो स्वयं से इस नशे को भगाते हैं।
Taj Mohammad
आदमी कितना नादान है
Ram Krishan Rastogi
जिंदगी और करार
ananya rai parashar
हे पिता,करूँ मैं तेरा वंदन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
The Buddha And His Path
Buddha Prakash
मैं मजदूर हूँ!
Anamika Singh
💐प्रेम की राह पर-33💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ऊपज
Mahender Singh Hans
सौगंध
Shriyansh Gupta
पिता !
Kuldeep mishra (KD)
ये शिक्षामित्र है भाई कि इसमें जान थोड़ी है
आकाश महेशपुरी
चिट्ठी का जमाना और अध्यापक
Mahender Singh Hans
प्रार्थना
Anamika Singh
** यकीन **
Dr. Alpa H.
अपने मन की मान
जगदीश लववंशी
देखो हाथी राजा आए
VINOD KUMAR CHAUHAN
मजदूर_दिवस_पर_विशेष
संजीव शुक्ल 'सचिन'
आजमाइशें।
Taj Mohammad
हमारी जां।
Taj Mohammad
Loading...