गीत- देख हमारा हाल नहीँ यूँ

गीत- देख हमारा हाल नहीँ यूँ
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
देख हमारा हाल नहीँ यूँ
गरज गरज के बात करो
दुखिया के कुछ दुख भी सुन लो
बादल ना उत्पात करो

किस नगरी से आये हो तुम
आँखोँ मेँ भी छाये हो तुम
आये हो तुम नीर बहाने
या दुखिया की पीर बढ़ाने
पानी ही पानी लाये हो
ऐसे ना आघात करो-
दुखिया के कुछ दुख भी सुन लो
बादल ना उत्पात करो

साजन मेरे दूर गये हैँ
हो कर के मजबूर गये हैँ
तुम आये हो विरह जगाने
इक विधवा को और सताने
साजन से जाकर मिल जाऊँ
या ऐसे हालात करो-
दुखिया के कुछ दुख भी सुन लो
बादल ना उत्पात करो

सपने थे झूठे झूठे से
अपने भी रूठे रूठे से
जबसे माँग हुई है खाली
लोगोँ की बजती है ताली
बहुत उजाले से डरती हूँ
अब अंधेरी रात करो-
दुखिया के कुछ दुख भी सुन लो
बादल ना उत्पात करो

– आकाश महेशपुरी

1 Comment · 148 Views
You may also like:
माँ (खड़ी हूँ मैं बुलंदी पर मगर आधार तुम हो...
Dr Archana Gupta
फरियाद
Anamika Singh
पिता आदर्श नायक हमारे
Buddha Prakash
विश्व पुस्तक दिवस
Rohit yadav
【12】 **" तितली की उड़ान "**
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
**नसीब**
Dr. Alpa H.
निशां मिट गए हैं।
Taj Mohammad
जीवन इनका भी है
Anamika Singh
सुकून सा ऐहसास...
Dr. Alpa H.
अब तो दर्शन दे दो गिरधर...
Dr. Alpa H.
बुलबुला
मनोज शर्मा
सहारा मिल गया होता
अरशद रसूल /Arshad Rasool
कर्म ही पूजा है।
Anamika Singh
सेतुबंध रामेश्वर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
* प्रेमी की वेदना *
Dr. Alpa H.
साल गिरह
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
पानी का दर्द
Anamika Singh
दया के तुम हो सागर पापा।
Taj Mohammad
ग़ज़ल- इशारे देखो
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
पिता
Keshi Gupta
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
नियत मे पर्दा
Vikas Sharma'Shivaaya'
ढह गया …
Rekha Drolia
खिला प्रसून।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
नित हारती सरलता है।
Saraswati Bajpai
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
ज़िंदगी मयस्सर ना हुई खुश रहने की।
Taj Mohammad
ख़ूब समझते हैं ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit Singh
【1】*!* भेद न कर बेटा - बेटी मैं *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
वोह जब जाती है .
ओनिका सेतिया 'अनु '
Loading...