गीत- चलो इश्क मेँ भी नहा लो जरा

गीत- चलो इश्क मेँ भी नहा लो जरा
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
ज़माना नहीँ ढूँढ पाये हमेँ
हँसीँ गेसुओँ मेँ छुपा लो जरा
कि मौसम जवाँ मनचला आसमाँ
चलो इश्क मेँ भी नहा लो जरा

चलो प्यार मेँ कुछ बढ़ाएँ कदम
न कोई यहाँ हम अकेले सनम
निगाहोँ मेँ डालो निगाहेँ सुनो
अलग ना रहो आ मिलोँ एकदम
न दूरी कभी अब रहे दर्मियाँ
मुझे धड़कनोँ मेँ बसा लो जरा-
कि मौसम जवाँ मनचला आसमाँ
चलो इश्क मेँ भी नहा लो जरा

जो दिल मेँ तुम्हारे ठिकाना मिला
मुझे तो खुशी का खज़ाना मिला
मिली ये खुशी अब छुपाऊँ कहाँ
मिले तुम कि जैसे ज़माना मिला
नहीँ और सोचूँ कि तेरे सिवा
मैँ टूटा हुआ हूँ सम्हालो जरा-
कि मौसम जवाँ मनचला आसमाँ
चलो इश्क मेँ भी नहा लो जरा

फुहारोँ का आओ उठा लेँ मजा
भले ये ज़माना सुना दे सजा
नहीँ है हमेँ डर किसी का सनम
कि बाहोँ मेँ आके नहीँ तूँ लजा
ये दिन है सुहाना हमारे लिए
उमंगेँ जो दिल मेँ उछालो जरा-
कि मौसम जवाँ मनचला आसमाँ
चलो इश्क मेँ भी नहा लो जरा

– आकाश महेशपुरी

286 Views
You may also like:
गर हमको पता होता।
Taj Mohammad
चलों मदीने को जाते हैं।
Taj Mohammad
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
तुम्हीं हो मां
Krishan Singh
यादों की भूलभुलैया में
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हाइकु:(लता की यादें!)
Prabhudayal Raniwal
बगिया जोखीराम में श्री चंद्र सतगुरु की आरती
Ravi Prakash
मां की दुआ है।
Taj Mohammad
मज़दूर की महत्ता
Dr. Alpa H.
सिया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
पर्यावरण और मानव
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
हमारे पापा
पाण्डेय चिदानन्द
मातृदिवस
Dr Archana Gupta
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
"बेटी के लिए उसके पिता क्या होते हैं सुनो"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
**अनमोल मोती**
Dr. Alpa H.
उपज खोती खेती
विनोद सिल्ला
💐प्रेम की राह पर-53💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
शहीद का पैगाम!
Anamika Singh
बाबा भैरण के जनैत छी ?
श्रीहर्ष आचार्य
इंसाफ के ठेकेदारों! शर्म करो !
ओनिका सेतिया 'अनु '
सबसे बड़ा सवाल मुँहवे ताकत रहे
आकाश महेशपुरी
इश्क़ में क्या हार-जीत
N.ksahu0007@writer
जी हाँ, मैं
gurudeenverma198
जब बेटा पिता पे सवाल उठाता हैं
Nitu Sah
🍀🌸🍀🌸आराधों नित सांय प्रात, मेरे सुतदेवकी🍀🌸🍀🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पुस्तक समीक्षा -एक थी महुआ
Rashmi Sanjay
ख़ूब समझते हैं ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit Singh
कृतिकार पं बृजेश कुमार नायक की कृति /खंड काव्य/शोधपरक ग्रंथ...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🌷🍀प्रेम की राह पर-49🍀🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...