Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 21, 2016 · 1 min read

गीत :– बदलो ना तुम इरादे नाकामियों के डर से !!

बदलो ना तुम इरादे …!!
तर्ज – इन्साफ की डगर पे….

रस्ते गुजर रहे हों मुस्किल भरे सफर से !
बदलो ना तुम इरादे नाकामियों के डर से !!

इस जुवां पे हरदम तू सच का नाम लेना !
खुद को सम्हाल थोडी हिम्मत से काम लेना !

टूटे कभी जो हौसला बदनामियों के घर से !
बदलो ना तुम इरादे नाकामियों के डर से !!

कायरों के रंग पे खुद को कभी ना रन्गना !
ना बुजदिलों से डरना कभी बुजदिली ना करना !

रंग दे इस धरा को खुशियों के रंग भरके !
बदलो ना तुम इरादे नाकामियों की डर से !!

ठोकर यहा लगेगी रस्ते उलझने वाले !
शिखर पर खडे है गिर-गिर के उठने वाले !

गिरना नहीं कभी तू अपनी इस नजर से !
बदलो ना तुम इरादे नाकामियों की डर से !!

5 Comments · 335 Views
You may also like:
हाँ, अब मैं ऐसा ही हूँ
gurudeenverma198
पिता ईश्वर का दूसरा रूप है।
Taj Mohammad
चुप ही रहेंगे...?
मनोज कर्ण
पढ़ाई - लिखाई
AMRESH KUMAR VERMA
जीवन इनका भी है
Anamika Singh
जुबान काट दी जाएगी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
ईश्वर ने दिया जिंन्दगी
Anamika Singh
✍️✍️रंग✍️✍️
"अशांत" शेखर
माँ तुम्हें सलाम हैं।
Anamika Singh
ख़ुशी
Alok Saxena
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
The Journey of this heartbeat.
Manisha Manjari
सत् हंसवाहनी वर दे,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
अनमोल घड़ी
Prabhudayal Raniwal
व्यक्तिवाद की अजीब बीमारी...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
पानी की कहानी, मेरी जुबानी
Anamika Singh
कृतिकार पं बृजेश कुमार नायक की कृति /खंड काव्य/शोधपरक ग्रंथ...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
लकड़ी में लड़की / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
"पिता"
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
🌷"फूलों की तरह जीना है"🌷
पंकज कुमार "कर्ण"
प्रेमानुभूति भाग-1 'प्रेम वियोगी ना जीवे, जीवे तो बौरा होई।’
पंकज 'प्रखर'
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
हाइकु__ पिता
Manu Vashistha
हवस
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कहने से
Rakesh Pathak Kathara
परीक्षा एक उत्सव
Sunil Chaurasia 'Sawan'
सरसी छंद और विधाएं
Subhash Singhai
सुबह
AMRESH KUMAR VERMA
*ध्यान में निराकार को पाना (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
मत बना किसी को अपनी कमजोरी
Krishan Singh
Loading...