Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

गाँव की गलियां

गांव की गलियां संकरी हैं ,पर चौड़ी सड़कों से बेहतर है।
यहाँ प्राणवायु की कमीं नही ,है बहती हवा सरसर है।
ऊँची बिल्डिंग के ऊँचे लोगों ,क्या तुमको ये पता भी है,
यहां लोग जुड़ें है एक दूजे से,एक घर से जुड़ा दूजा घर है।
सुख – दुख की हर एक घड़ी में साथ निभाते रहते हैं।
छोटी मुसीबत पर कितनो को आवाज लगाते रहते हैं।
यहाँ रहने वाले लोग ,एक दूजे के सच्चे रहबर हैं।
गांव की गलियां संकरी हैं ,पर चौड़ी सड़कों से बेहतर है।
यहाँ हर त्योहार में रहता है ,हर घर में उल्लास सदा।
तुम त्योहार भी मनाते हो , यहाँ -वहाँ और यदा -कदा।
यहाँ हर एक व्यक्ति के सुख दुख पर ,लोगों की पैनी नजर है।
गांव की गलियां संकरी हैं ,पर चौड़ी सड़कों से बेहतर है।
विनती है उस ईश्वर से ,पीपल बरगद की छांव मिले।
गर फिर आऊँ इस धरती पर, फिर से मुझे एक गांव मिले।
प्रकृति को संजोया अब तो , गाँव का घर – घर है।
गांव की गलियां संकरी हैं ,पर चौड़ी सड़कों से बेहतर है।
– सिद्धार्थ पाण्डेय

3 Likes · 376 Views
You may also like:
परदा उठ जाएगा।
Taj Mohammad
“माँ भारती” के सच्चे सपूत
DESH RAJ
बदरी
सूर्यकांत द्विवेदी
ऐसे इश्क निभाया हमने
Anamika Singh
“ অখনো মিথিলা কানি রহল ”
DrLakshman Jha Parimal
✍️परछाईया✍️
"अशांत" शेखर
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेरी तडपन अब और न बढ़ाओ
Ram Krishan Rastogi
पाँव में छाले पड़े हैं....
डॉ.सीमा अग्रवाल
हम गीत ख़ुशी के गाएंगे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*बुद्ध पूर्णिमा 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
हम हैं
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
एकाकीपन
Rekha Drolia
बेकार ही रंग लिए।
Taj Mohammad
हाँथो में लेकर हाँथ
Mamta Rani
✍️अलहदा✍️
"अशांत" शेखर
एक शहीद की महबूबा
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️✍️चुभन✍️✍️
"अशांत" शेखर
पितृ स्तुति
दुष्यन्त 'बाबा'
पिता हैं नाथ.....
Dr.Alpa Amin
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
ख़ूब समझते हैं ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
श्रंगार के वियोगी कवि श्री मुन्नू लाल शर्मा और उनकी...
Ravi Prakash
बदनाम दिल बेचारा है
Taj Mohammad
शिक्षित बने ।
Buddha Prakash
होता नहीं अब मुझसे
gurudeenverma198
दुर्घटना का दंश
DESH RAJ
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
कविता संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
'बादल' (जलहरण घनाक्षरी)
Godambari Negi
Loading...