Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ग़ज़ल- उसकी गली से…

ग़ज़ल :- उसकी गली से

उसकी गली से फिर भी हमारा गुजर न था।
चहत का उनकी दिल में मेरे कम असर न था।।

लाखों के दिल में रहता था,हरदिल अज़ीज़ था।
कहने को लेकिन उसके मगर कोई घर न था।।

यूँ तो हज़ारों दोस्त थे हमदर्द कम न थे।
आते ही मुफलिसी के ही कोई मगर न था।।

बस हौसलें को रख तू अपने बुलंद इतना।
जीवन का तेरे फिर ये लंबा सफ़र न था।।

तेरी शरण में जाये,भूले कभी न उनको।
‘राना’ तो इससे अच्छा कोई दर न था।।

***

— राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’
संपादक-‘आकांक्षा’पत्रिका
अध्यक्ष—म.प्र. लेखक संघ शिवनगर कालोनी,
टीकमगढ़ (म.प्र.)472001
मोबाइल—9893520965

174 Views
You may also like:
Oh dear... don't fear.
Taj Mohammad
वेदना
Archana Shukla "Abhidha"
एक वही मल्लाह
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
💐 निगोड़ी बिजली 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आप कौन है
Sandeep Albela
अर्धनारीश्वर की अवधारणा...?
मनोज कर्ण
सारी फिज़ाएं छुप सी गई हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
पिता मेरे /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
#मजबूरिया
Dalveer Singh
تیری یادوں کی خوشبو فضا چاہتا ہوں۔
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
हे दीन,दयाल,सकल,कृपाल।
Taj Mohammad
जूते जूती की महिमा (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
जिन्दगी एक दरिया है
Anamika Singh
खूबसूरत तस्वीर
DESH RAJ
ऋतुराज का हुआ शुभारंभ
Vishnu Prasad 'panchotiya'
खुदा चाहे तो।
Taj Mohammad
✍️महज़ बातें ✍️
Vaishnavi Gupta
पिया मिलन की आस
Kanchan Khanna
जिस आँगन में बिटिया चहके।
लक्ष्मी सिंह
हमदर्द हो जो सबका मददगार चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
यादों के झरोखों से।
Taj Mohammad
विशेष दिन (महिला दिवस पर)
Kanchan Khanna
O brave soldiers.
Taj Mohammad
आँखों में पूरा समंदर छिपाये बैठे है,
डी. के. निवातिया
मज़ाक।
Taj Mohammad
इश्क़ में ज़िंदगी नहीं मिलती
Dr fauzia Naseem shad
अजीब दौर हकीकत को ख्वाब लिखने लगे
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
किसी पथ कि , जरुरत नही होती
Ram Ishwar Bharati
Father's Compassion
Buddha Prakash
“ अच्छा लगे तो स्वीकार करो ,बुरा लगे तो नज़र...
DrLakshman Jha Parimal
Loading...