Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ग़ज़ल- इशारे देखो

**ग़ज़ल- -इशारा देखों-*

हवायें कर रही है तुम भी इशारा देखो।
किस तरह बर्फ़ से उठती है शरारा देखो।।

हो गया छेद गर कश्ती में डूब जायेगी।
तुम अगर चाहते हो बचना तो किनारा देखो।।

इन हादसों से तुम कभी मायूस न होना।
उन के दर पे मिले कितनों को सहारा देखो।।

सब रहते है यहां मिलके धर्म कोई हो।
हसीन दिखता है कितना नज़ारा देखो।।

सजा रख्की है जहां चांद ने महफ़िल अपनी।
वहां पे ‘राना’ है छोटा सा सितारा देखो।।
***

© राजीव नामदेव “राना लिधौरी”,टीकमगढ़
संपादक-“आकांक्षा” हिंदी पत्रिका
संपादक- ‘अनुश्रुति’ बुंदेली पत्रिका
जिलाध्यक्ष म.प्र. लेखक संघ टीकमगढ़
अध्यक्ष वनमाली सृजन केन्द्र टीकमगढ़
नई चर्च के पीछे, शिवनगर कालोनी,
टीकमगढ़ (मप्र)-472001
मोबाइल- 9893520965
Email – ranalidhori@gmail.com
Blog-rajeevranalidhori.blogspot.com

1 Like · 2 Comments · 68 Views
You may also like:
छुट्टी वाले दिन...♡
Dr. Alpa H. Amin
ज़रा सामने बैठो।
Taj Mohammad
हवस
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
जिन्दगी
Anamika Singh
मील का पत्थर
Anamika Singh
♡ तेरा ख़याल ♡
Dr. Alpa H. Amin
शून्य है कमाल !
Buddha Prakash
I love to vanish like that shooting star.
Manisha Manjari
मनुज शरीरों में भी वंदा, पशुवत जीवन जीता है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रहे न अगर आस तो....
डॉ.सीमा अग्रवाल
रामपुर में काका हाथरसी नाइट
Ravi Prakash
मुस्कुराहटों के मूल्य
Saraswati Bajpai
पिता है मेरे रगो के अंदर।
Taj Mohammad
कभी ज़मीन कभी आसमान.....
अश्क चिरैयाकोटी
तुमसे कोई शिकायत नही
Ram Krishan Rastogi
सुकूं का प्यासा है।
Taj Mohammad
✍️मेहरबानी✍️
"अशांत" शेखर
एक पत्र बच्चों के लिए
Manu Vashistha
मै हूं एक मिट्टी का घड़ा
Ram Krishan Rastogi
पनघट और मरघट में अन्तर
Ram Krishan Rastogi
पिता हैं नाथ.....
Dr. Alpa H. Amin
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
मानव तन
Rakesh Pathak Kathara
चिड़िया और जाल
DESH RAJ
बाबा साहेब जन्मोत्सव
Mahender Singh Hans
ए- अनूठा- हयात ईश्वरी देन
AMRESH KUMAR VERMA
विद्या पर दोहे
Dr. Sunita Singh
नवगीत
Mahendra Narayan
पितृ नभो: भव:।
Taj Mohammad
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग१]
Anamika Singh
Loading...