Sep 10, 2016 · 1 min read

गणेश वंदना.

हे गजबदन गणेश गजानन गणनायक गुरु स्वामी हो.
प्रथम पूज्यवर पार्वती-सुत गणपति अन्तर्यामी हो.
विकट विनायक विघ्नेश्वर शुचि विद्यावारिधि सिद्धिप्रियः,
कपिल कवीष कृषापिंगाक्षा सत्पथ के अनुगामी हो..

शत-शत वंदन करते हम सब सिद्धिविनायक कृपा करो.
बुद्धि शुद्धि करके हम सबकी ऋद्धि सिद्धि दे दुःख हरो.
पथ के कंटक दूर सभी हों विश्व सनातन प्रगति करे,
रहें सुरक्षित हम सब सारे मिट्टी में नव प्राण भरो..

–इंजी० अम्बरीष श्रीवास्तव ‘अम्बर’

शब्दार्थ:
कृषापिंगाक्षा : पीले-कत्थई आंखों वाले
कवीष: कवियों के प्रमुख
कपिल: पीले-कत्थई रंग के

211 Views
You may also like:
💐 देह दलन 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आध्यात्मिक गंगा स्नान
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सोना
Vikas Sharma'Shivaaya'
निद्रा
Vikas Sharma'Shivaaya'
ग़ज़ल
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जो चाहे कर सकता है
Alok kumar Mishra
बुद्ध पूर्णिमा पर तीन मुक्तक।
Anamika Singh
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
इतना शौक मत रखो इन इश्क़ की गलियों से
Krishan Singh
बिछड़न [भाग ३]
Anamika Singh
मृत्यु डराती पल - पल
Dr.sima
पानी कहे पुकार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कहने से
Rakesh Pathak Kathara
दर्पण!
सेजल गोस्वामी
*सादा जीवन उच्च विचार के धनी कविवर रूप किशोर गुप्ता...
Ravi Prakash
🌺🌺प्रेम की राह पर-9🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता जी का आशीर्वाद है !
Kuldeep mishra (KD)
परवाना बन गया है।
Taj Mohammad
रसीला आम
Buddha Prakash
पिता एक विश्वास - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
महापंडित ठाकुर टीकाराम (18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित)
श्रीहर्ष आचार्य
उत्साह एक प्रेरक है
Buddha Prakash
माँ बाप का बटवारा
Ram Krishan Rastogi
और कितना धैर्य धरू
Anamika Singh
The Journey of this heartbeat.
Manisha Manjari
पापा की परी...
Sapna K S
दिल्ली की कहानी मेरी जुबानी [हास्य व्यंग्य! ]
Anamika Singh
ग्रीष्म ऋतु भाग २
Vishnu Prasad 'panchotiya'
बाबू जी
Anoop Sonsi
कितनी सुंदरता पहाड़ो में हैं भरी.....
Dr. Alpa H.
Loading...