Sep 27, 2016 · 1 min read

गज़ल:-मै एक हसीन पल हूँ/मंदीप

मै एक हसीन पल हूँ/मंदीप्
दिल को छु जाऊ मै हवा का वो जोक हूँ,
मै बस जाऊ दिल में वो हसीन समा हूँ।

ना निकल सको कभी भी दिल से,
मै वो तुम्हारे ख़्यालो का खूबसूरत नजराना हूँ।

लबो पर एक बार अगर आ जाऊ,
मै वो हँसी का एक हसीन झरोखा हूँ।

महसुस जो करोगे अगर मुझ को कभी,
मै वो प्यार का गहरा समुन्दर हूँ।

रहूँ हमेसा तुम्हारे साथ हर पल,
मै वो खूबसूरत यादो का साया हूँ।

गुलाम परिन्दे को आजाद महसूस करवा दूँ,
मै प्यार का वो आलीसान तहखाना हूँ।

“मंदीप्” रहे हमेसा सब की यादो में ,बातो में,
मै कभी ना ख़त्म होने वाला प्यार का गहरा कुआँ हूँ।

मंदीपसाई

154 Views
You may also like:
रोग ने कितना अकेला कर दिया
Dr Archana Gupta
हे पिता,करूँ मैं तेरा वंदन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
🔥😊 तेरे प्यार ने
N.ksahu0007@writer
"ईद"
Lohit Tamta
रसीला आम
Buddha Prakash
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
वो काली रात...!
मनोज कर्ण
बसन्त बहार
N.ksahu0007@writer
कोई तो है कहीं पे।
Taj Mohammad
स्मृति चिन्ह
Shyam Sundar Subramanian
जिदंगी के कितनें सवाल है।
Taj Mohammad
करते रहो सितम।
Taj Mohammad
💐💐प्रेम की राह पर-21💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तन्हाई
Alok Saxena
"सुनो एक सैर पर चलते है"
Lohit Tamta
श्रीयुत अटलबिहारी जी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
क्लासिफ़ाइड
सिद्धार्थ गोरखपुरी
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
मैं हो गई पराई.....
Dr. Alpa H.
पितृ स्वरूपा,हे विधाता..!
मनोज कर्ण
क्या कोई मुझे भी बताएगा
Krishan Singh
त्याग की परिणति - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बद्दुआ।
Taj Mohammad
उपहार की भेंट
Buddha Prakash
"महेनत की रोटी"
Dr. Alpa H.
बाबा की धूल
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
दिनेश कार्तिक
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
माँ — फ़ातिमा एक अनाथ बच्ची
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
यूं हुस्न की नुमाइश ना करो।
Taj Mohammad
गुजर रही है जिंदगी अब ऐसे मुकाम से
Ram Krishan Rastogi
Loading...