Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Aug 9, 2016 · 1 min read

**ख्वाबों की फस्लें आज भी मैं बोया करता हूं**

एक पुरानी गज़ल-

**ख्वाबों की फसलें आज भी मैं बोया करता हूं::गज़ल**

हक़ीक़त जान ले कि रात भर मैं रोया करता हूं,
बहुत हैं दाग दामन में जिन्हें मैं धोया करता हूं l

यक़ीनन बांझ हैं दिल की जमीं मैं मान लेता हूं,
मगर ख्वाबों की फसलें आज भी मैं बोया करता हूं l

मेरा अरसा गुज़र गया तेरी यादों की चौखट पर,
ना जाने क्यूं तेरी यादों में ऐसे खोया करता हूं l

उगा करती है तेरी याद इन पलकों के गोशों में,
जिसे मैं आंसुओं से सींचता,संजोया करता हूं l

एक मुद्दत से कई ख्वाब मेरी चौखट पे बैठे हैं,
मेरी आंखें बता देंगी मैं कितना सोया करता हूं l

ये बात सच है कि मैं लोगों से तेरा ज़िक्र नहीं करता,
मगर छुप-छुप के तुझे गज़लों में पिरोया करता हूं ll

All rights reserved.

-Er Anand Sagar Pandey

209 Views
You may also like:
हे तात ! कहा तुम चले गए...
मनोज कर्ण
✍️किसान के बैल की संवेदना✍️
"अशांत" शेखर
मुंह की लार – सेहत का भंडार
Vikas Sharma'Shivaaya'
झुलसता पर्यावरण / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
*सादा जीवन उच्च विचार के धनी कविवर रूप किशोर गुप्ता...
Ravi Prakash
.✍️आशियाना✍️
"अशांत" शेखर
*!* दिल तो बच्चा है जी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
वेवफा प्यार
Anamika Singh
भारत के इतिहास में मुरादाबाद का स्थान
Ravi Prakash
🌻🌻🌸"इतना क्यों बहका रहे हो,अपने अन्दाज पर"🌻🌻🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*!* सोच नहीं कमजोर है तू *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
पापा मेरे पापा ॥
सुनीता महेन्द्रू
गीत -
Mahendra Narayan
आइना हूं मैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जुबान काट दी जाएगी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
💐 हे तात नमन है तुमको 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
खुदा मुझको मिलेगा न तो (जानदार ग़ज़ल)
रकमिश सुल्तानपुरी
रामपुर में दंत चिकित्सा की आधी सदी के पर्याय डॉ....
Ravi Prakash
शायद मैं गलत हूँ...
मनोज कर्ण
झरने और कवि का वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
गुरु की महिमा***
Prabhavari Jha
लघुकथा: ऑनलाइन
Ravi Prakash
महान गुरु श्री रामकृष्ण परमहंस की काव्यमय जीवनी (पुस्तक-समीक्षा)
Ravi Prakash
किसी से ना कोई मलाल है।
Taj Mohammad
चाहत कुर्सी की जागी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग१]
Anamika Singh
आरज़ू है बस ख़ुदा
Dr. Pratibha Mahi
" अपनी ढपली अपना राग "
Dr Meenu Poonia
खड़ा बाँस का झुरमुट एक
Vishnu Prasad 'panchotiya'
Loading...