Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

*खुद को जिसने जाना है*

खुद को जिसने जाना है !
खुदा को उसने जाना है !!

अपना सबको माना है !
फ़िर कोई नही बेगाना है !!

खुद को जिसने जाना है!
खुदा को उसने जाना है !!

लबों पर यही तराना है !
सब कुछ आना जाना है !!

दुनियाँ मुसाफ़िरखाना है
सांसों का कर्ज़ चुकाना है!!

खुद को जिसने जाना है !
खुदा को उसने जाना है !!
*धर्मेन्द्र अरोड़ा*

250 Views
You may also like:
सोलह शृंगार
श्री रमण 'श्रीपद्'
*!* दिल तो बच्चा है जी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
थोड़ी सी कसक
Dr fauzia Naseem shad
जब चलती पुरवइया बयार
श्री रमण 'श्रीपद्'
तू कहता क्यों नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
दहेज़
आकाश महेशपुरी
" मैं हूँ ममता "
मनोज कर्ण
जीवन के उस पार मिलेंगे
Shivkumar Bilagrami
तप रहे हैं प्राण भी / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बेरोज़गारों का कब आएगा वसंत
Anamika Singh
ब्रेकिंग न्यूज़
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
भूखे पेट न सोए कोई ।
Buddha Prakash
पापा को मैं पास में पाऊँ
Dr. Pratibha Mahi
माँ की भोर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
दर्द लफ़्ज़ों में लिख के रोये हैं
Dr fauzia Naseem shad
टूट कर की पढ़ाई...
आकाश महेशपुरी
पितृ स्वरूपा,हे विधाता..!
मनोज कर्ण
यही तो इश्क है पगले
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
वरिष्ठ गीतकार स्व.शिवकुमार अर्चन को समर्पित श्रद्धांजलि नवगीत
ईश्वर दयाल गोस्वामी
भगवान हमारे पापा हैं
Lucky Rajesh
*पापा … मेरे पापा …*
Neelam Chaudhary
न जाने क्यों
Dr fauzia Naseem shad
ज़िंदगी में न ज़िंदगी देखी
Dr fauzia Naseem shad
'याद पापा आ गये मन ढाॅंपते से'
Rashmi Sanjay
पिता
Satpallm1978 Chauhan
बंशी बजाये मोहना
लक्ष्मी सिंह
दीवार में दरार
VINOD KUMAR CHAUHAN
तुम ना आए....
डॉ.सीमा अग्रवाल
हे पिता,करूँ मैं तेरा वंदन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
नदी को बहने दो
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...