Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 25, 2021 · 1 min read

खुद को खोकर तुझे पाया है मैंने

ख़ुद को खोकर, तुझे पाया है, मैंने
हर रिश्ता दिल से निभाया है, मैंने

टूट कर हर बार हालातों से,
चलना ख़ुद को सिखाया है,मैंने

राह के हर क़दम पर काँटो को
हंसते हंसते गले लगाया है, मैंने

दूर हूँ, तुझ से असल मैं जितना
उतना करीब ख़्वाबों में पाया है,मैंने

तुम बिन ज़िंदगी नही थी,आसां
इस सफर को आसां बनाया है, मैंने

किस्मत का खेल समझकर,’भूपेंद्र’
यूं ही अश्कों को ज़ाया बहाया है,मैंने

भूपेंद्र रावत

4 Likes · 2 Comments · 309 Views
You may also like:
इब्ने सफ़ी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हम लिखते क्यों हैं
पूनम झा 'प्रथमा'
सुहावना मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:37
AJAY AMITABH SUMAN
प्रेयसी
Dr. Sunita Singh
'जिंदगी'
Godambari Negi
अब कैसे कहें तुमसे कहने को हमारे हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
एक शख्स सारे शहर को वीरान कर जाता हैं
Krishan Singh
पिता का प्रेम
Seema gupta ( bloger) Gupta
पुस्तक समीक्षा *तुम्हारे नेह के बल से (काव्य संग्रह)*
Ravi Prakash
अजब-गज़ब शौक होते है।
Taj Mohammad
मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून 2022
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कड़वा सच
Rakesh Pathak Kathara
इतना न कर प्यार बावरी
Rashmi Sanjay
बंदिशे तमाम मेरे हक़ में ...........
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
कुछ हंसी पल खुशी के।
Taj Mohammad
गुरू गोविंद
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
खुदा भेजेगा ज़रूर।
Taj Mohammad
जय जय तिरंगा
gurudeenverma198
तो क्या होगा?
Shekhar Chandra Mitra
खा लो पी लो सब यहीं रह जायेगा।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️✍️रब्त✍️✍️
'अशांत' शेखर
खुद को कभी न बदले
Dr fauzia Naseem shad
ख़ामोश अल्फाज़।
Taj Mohammad
बरसात की झड़ी ।
Buddha Prakash
'बाबूजी' एक पिता
पंकज कुमार "कर्ण"
चुप ही रहेंगे...?
मनोज कर्ण
एक दूजे के लिए हम ही सहारे हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
किसकी पीर सुने ? (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...