खुद के मेहनत

फोकट के पकवान से दूर रखें भगवान ।
खुद के मेहनत पर हमें करना है अभिमान ।।

अवध किशोर ‘अवधू’

100 Views
You may also like:
रावण का मकसद, मेरी कल्पना
Anamika Singh
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मैं हो गई पराई.....
Dr. Alpa H.
मुसाफिर चलते रहना है
Rashmi Sanjay
दिल मे कौन रहता है..?
N.ksahu0007@writer
ये लखनऊ है मेरी जान।
Taj Mohammad
किताब...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
नीम का छाँव लेकर
सिद्धार्थ गोरखपुरी
अभी बाकी है
Lamhe zindagi ke by Pooja bharadawaj
श्री राम स्तुति
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अब सुप्त पड़ी मन की मुरली, यह जीवन मध्य फँसा...
संजीव शुक्ल 'सचिन'
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण
चढ़ता पारा
जगदीश शर्मा सहज
पिता
Dr.Priya Soni Khare
बस तुम्हारी कमी खलती है
Krishan Singh
पापा आप बहुत याद आते हो।
Taj Mohammad
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग४]
Anamika Singh
उत्साह एक प्रेरक है
Buddha Prakash
ज़ुबान से फिर गया नज़र के सामने
कुमार अविनाश केसर
किताब।
Amber Srivastava
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
आद्य पत्रकार हैं नारद जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग४]
Anamika Singh
उम्मीद की रोशनी में।
Taj Mohammad
ऐ जिंदगी कितने दाँव सिखाती हैं
Dr. Alpa H.
फिर से खो गया है।
Taj Mohammad
राब्ता
सिद्धार्थ गोरखपुरी
तप रहे हैं दिन घनेरे / (तपन का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अब आगाज यहाँ
vishnushankartripathi7
Loading...