Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Feb 2023 · 1 min read

खुदी में मगन हूँ, दिले-शाद हूँ मैं

खुदी में मगन हूँ, दिले-शाद हूँ मैं
बचा हूँ विवादों से, अपवाद हूँ मैं

तबीयत ही कुछ ऐसी पाई है मैंने
जहाँभर की फ़िक्रों से आज़ाद हूँ मैं

—महावीर उत्तरांचली

1 Like · 73 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.

Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali

You may also like:
बुद्ध तुम मेरे हृदय में
बुद्ध तुम मेरे हृदय में
Buddha Prakash
अश्लील साहित्य
अश्लील साहित्य
Sanjay
तुम गजल मेरी हो
तुम गजल मेरी हो
साहित्य गौरव
नजर  नहीं  आता  रास्ता
नजर नहीं आता रास्ता
Nanki Patre
शिव वंदना
शिव वंदना
ओंकार मिश्र
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
_सुलेखा.
🍀🌺🍀🌺🍀🌺🍀🌺🍀🌺🍀🍀🌺🍀🌺🍀
🍀🌺🍀🌺🍀🌺🍀🌺🍀🌺🍀🍀🌺🍀🌺🍀
subhash Rahat Barelvi
*सीता नवमी*
*सीता नवमी*
Shashi kala vyas
Mahadav, mera WhatsApp number save kar lijiye,
Mahadav, mera WhatsApp number save kar lijiye,
Ankita Patel
अपनी अपनी मंजिलें हैं
अपनी अपनी मंजिलें हैं
Surinder blackpen
शोर जब-जब उठा इस हृदय में प्रिये !
शोर जब-जब उठा इस हृदय में प्रिये !
Arvind trivedi
"मेरे किसान बंधु चौकड़िया'
Ms.Ankit Halke jha
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
हमें उससे नहीं कोई गिला भी
हमें उससे नहीं कोई गिला भी
Irshad Aatif
साथ तेरा रहे साथ बन कर सदा
साथ तेरा रहे साथ बन कर सदा
डॉ. दीपक मेवाती
बुद्धिमान हर बात पर,
बुद्धिमान हर बात पर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आँखें शिकायत करती हैं गमों मे इस्तेमाल हमारा ही क्यों करते ह
आँखें शिकायत करती हैं गमों मे इस्तेमाल हमारा ही क्यों करते ह
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
जिस के पास एक सच्चा दोस्त है
जिस के पास एक सच्चा दोस्त है
shabina. Naaz
"दरख़्त"
Dr. Kishan tandon kranti
क्षोभ  (कुंडलिया)
क्षोभ (कुंडलिया)
Ravi Prakash
■ उत्सवी सप्ताह....
■ उत्सवी सप्ताह....
*Author प्रणय प्रभात*
पत्रकारो द्वारा आज ट्रेन हादसे के फायदे बताये जायेंगें ।
पत्रकारो द्वारा आज ट्रेन हादसे के फायदे बताये जायेंगें ।
Kailash singh
करम
करम
Fuzail Sardhanvi
बच्चे को उपहार ना दिया जाए,
बच्चे को उपहार ना दिया जाए,
Shubham Pandey (S P)
भगतसिंह की जवानी
भगतसिंह की जवानी
Shekhar Chandra Mitra
पसोपेश,,,उमेश के हाइकु
पसोपेश,,,उमेश के हाइकु
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
वो बीते हर लम्हें याद रखना जरुरी नही
वो बीते हर लम्हें याद रखना जरुरी नही
'अशांत' शेखर
देकर हुनर कलम का,
देकर हुनर कलम का,
Satish Srijan
ये  कहानी  अधूरी   ही  रह  जायेगी
ये कहानी अधूरी ही रह जायेगी
Yogini kajol Pathak
ज़िंदगी तेरे मिज़ाज का
ज़िंदगी तेरे मिज़ाज का
Dr fauzia Naseem shad
Loading...