Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

खुदा तो हो नही सकता –ग़ज़ल

==================ग़ज़ल===============

मिले जो फूल के बदले मै कांटें बो नही सकता ।
भरे है आँख मे आँसू मग़र मै रो नही सकता ।

ये दुनिया है करेगी ही सितम इसको जो करना है ।
नफ़ासत यार दुनिया की उमरभर ढो नही सकता ।

सकूनों के लिए रब की इबादत रोज़ करता हूँ ।
लगा जो दाग़ दामन पर अकेले धो नही सकता ।

मेरे हमराह मुझ पर ही लगा इल्ज़ाम हँसते है ।
गवाही के लिए हरगिज़ शराफ़त खो नही सकता ।

चला हूँ फ़ूक कर राहे वफ़ा सुनसान गर्दिश मे ।
ज़रा दूरी पे मंज़िल है मग़र मै सो नही सकता ।

मिलेगी बेवफ़ाई ही ज़रा सी भूल के बदले ।
मुझे मंजूर है रोना वफ़ा का रो नही सकता ।

दिवाना हूं दिवानों से हुई है ग़लतियों ‘रकमिश’ ।
मुहब्बत का मसीहा हूं ख़ुदा तो हो नही सकता ।

✍ रकमिश सुल्तानपुरी

3 Likes · 1 Comment · 54 Views
You may also like:
पुस्तक समीक्षा : सपनों का शहर
दुष्यन्त 'बाबा'
घड़ी
AMRESH KUMAR VERMA
मैं हैरान हूं।
Taj Mohammad
इश्क
goutam shaw
यशोधरा के प्रश्न गौतम बुद्ध से
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
सुख दुख
Rakesh Pathak Kathara
R
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा...!!
Taj Mohammad
*!* दिल तो बच्चा है जी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
तुम न आये मगर..
लक्ष्मी सिंह
जीवन-दाता
Prabhudayal Raniwal
माँ
Prabhat Prajapati
Green Trees
Buddha Prakash
✍️नोटबंदी✍️
"अशांत" शेखर
💐💐धड़कता दिल कहे सब कुछ तुम्हारी याद आती है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।
Buddha Prakash
अंकपत्र सा जीवन
सूर्यकांत द्विवेदी
जादूगर......
Vaishnavi Gupta
"सावन-संदेश"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
कुंडलियां छंद (7)आया मौसम
Pakhi Jain
क़ैद में 15 वर्षों तक पृथ्वीराज और चंदबरदाई जीवित थे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पथ जीवन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
अवधी की आधुनिक प्रबंध धारा: हिंदी का अद्भुत संदोह
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
अब कैसे कहें तुमसे कहने को हमारे हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️परछाईया✍️
"अशांत" शेखर
पिता
dks.lhp
मातृशक्ति को नमन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हौसला खुद को
Dr fauzia Naseem shad
रसीला आम
Buddha Prakash
Loading...