Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

खिले रहने का ही संदेश

रंग बिखेरते फूल जग
को सुख देते चहुंओर
फिर भी उनके धर्म में
विघ्न के कांटे पुरजोर
खुशी के मौकों पर इंसां
उनका साथ लेते भरपूर
जश्न निपटते ही हर तरफ
उनकी उपेक्षा करें मगरूर
फूल सभी को देते हैं सदा
खिले रहने का ही संदेश
रूप और सुगंध से महका
देते आसपास का परिवेश
वास्तव में ये होते मानव को
प्रकृति का विशेष उपहार
बहुत जरूरी है हर शय करे
प्रकृति का संजीदगी से श्रृंगार

1 Like · 84 Views
You may also like:
" समुद्री बादल "
Dr Meenu Poonia
एक थे वशिष्ठ
Suraj Kushwaha
ये दूरियां मिटा दो ना
Nitu Sah
उपदेश से तृप्त किया ।
Buddha Prakash
मेरे पिता है प्यारे पिता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
बूंद बूंद में जीवन है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️स्त्रोत✍️
"अशांत" शेखर
*जिंदगी को वह गढ़ेंगे ,जो प्रलय को रोकते हैं*( गीत...
Ravi Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
💐प्रेम की राह पर-27💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
'माँ मुझे बहुत याद आती हैं'
Rashmi Sanjay
भारत रत्न श्री नानाजी देशमुख ********
Ravi Prakash
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
इन्तज़ार का दर्द
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जीना अब बे मतलब सा लग रहा है।
Taj Mohammad
सूर्यज्वाळा
"अशांत" शेखर
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
यूं रूबरू आओगे।
Taj Mohammad
खेत
Buddha Prakash
दादी मां की बहुत याद आई
VINOD KUMAR CHAUHAN
"DIDN'T LEARN ANYTHING IF WE DON'T PRACTICE IT "
DrLakshman Jha Parimal
We Would Be Connected Actually
Manisha Manjari
अत्याचार
AMRESH KUMAR VERMA
तुम ही ये बताओ
Mahendra Rai
खिले रहने का ही संदेश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
नींबू की चाह
Ram Krishan Rastogi
मोहब्बत
Kanchan sarda Malu
मेघो से प्रार्थना
Ram Krishan Rastogi
विषय:सूर्योपासना
Vikas Sharma'Shivaaya'
पापा को मैं पास में पाऊँ
Dr. Pratibha Mahi
Loading...