Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jul 2016 · 1 min read

खिलखिलाने पे न जा

अश्क़ करें बेशक चश्म नम नहीं
भिगोते रूह को मेरी वो कम नहीं
************************
खिलखिलाने पे न जाना तू मेरे
खोखली है ये हंसी कोई दम नहीं
************************
कपिल कुमार
28/07/2016

चश्म……..आँखे
अश्क़…..आँसू

Language: Hindi
257 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
पिता का साथ जीत है।
पिता का साथ जीत है।
Taj Mohammad
रिशतों का उचित मुल्य 🌹🌹❤️🙏❤️
रिशतों का उचित मुल्य 🌹🌹❤️🙏❤️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
स्वयं छुरी से चीर गल, परखें पैनी धार ।
स्वयं छुरी से चीर गल, परखें पैनी धार ।
Arvind trivedi
ऐसे थे मेरे पिता
ऐसे थे मेरे पिता
Minal Aggarwal
कबीर साहेब की शिक्षाएं
कबीर साहेब की शिक्षाएं
vikash Kumar Nidan
मैं चल रहा था तन्हा अकेला
मैं चल रहा था तन्हा अकेला
..
काग़ज़ के पुतले बने,
काग़ज़ के पुतले बने,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
उसकी सांसों में जान
उसकी सांसों में जान
Dr fauzia Naseem shad
प्रभु शरण
प्रभु शरण
चक्षिमा भारद्वाज"खुशी"
कश्मीर में चल रहे जवानों और आतंकीयो के बिच मुठभेड़
कश्मीर में चल रहे जवानों और आतंकीयो के बिच मुठभेड़
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
सरकार और नेता कैसे होने चाहिए
सरकार और नेता कैसे होने चाहिए
Ram Krishan Rastogi
*बिजली एक ज्यों चमकी (मुक्तक)*
*बिजली एक ज्यों चमकी (मुक्तक)*
Ravi Prakash
"अपने हक के लिए"
Dr. Kishan tandon kranti
मेरी कानपुर से नई दिल्ली की यात्रा का वृतान्त:-
मेरी कानपुर से नई दिल्ली की यात्रा का वृतान्त:-
Adarsh Awasthi
बेटियाँ
बेटियाँ
Surinder blackpen
वक्त वक्त की बात है 🌷🌷
वक्त वक्त की बात है 🌷🌷
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
*
*"मुस्कराने की वजह सिर्फ तुम्हीं हो"*
Shashi kala vyas
जब साथ तुम्हारे रहता हूँ
जब साथ तुम्हारे रहता हूँ
Ashok deep
भीमराव अम्बेडकर
भीमराव अम्बेडकर
Mamta Rani
मुहब्बत का ईनाम क्यों दे दिया।
मुहब्बत का ईनाम क्यों दे दिया।
सत्य कुमार प्रेमी
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हरकत में आयी धरा...
हरकत में आयी धरा...
डॉ.सीमा अग्रवाल
ये हरियाली
ये हरियाली
TARAN SINGH VERMA
कामयाबी का जाम।
कामयाबी का जाम।
Rj Anand Prajapati
मशक-पाद की फटी बिवाई में गयन्द कब सोता है ?
मशक-पाद की फटी बिवाई में गयन्द कब सोता है ?
महेश चन्द्र त्रिपाठी
” SALUTE TO EVERYONE ON ARMY DAY “
” SALUTE TO EVERYONE ON ARMY DAY “
DrLakshman Jha Parimal
लालची नेता बंटता समाज
लालची नेता बंटता समाज
विजय कुमार अग्रवाल
साँझ ढल रही है
साँझ ढल रही है
अमित नैथानी 'मिट्ठू' (अनभिज्ञ)
2551.*पूर्णिका*
2551.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
#नया_भारत 😊😊
#नया_भारत 😊😊
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...