Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

“क्षणिका”

दोस्ती कभी नहीं मिटती;दबी रहती है,मन के भीतर मौक़ा मिलते ही छलक जाती है:-
——————–
“क्षणिका”
————————
दोस्त का संदेश आया
कुछ ठहाके
गूँज गये
ज़हन में,
कुछ गालियाँ
उछलीं,
छीन कर सिगरेट ,
उड़ाये छल्ले
हुआ
सब धुँआ धुँआ
दिल भर आया,
रोया मैं,
खूब रोया,
मन हल्का हुआ;
याद नहीं ।
———————–
राजेश”ललित”शर्मा
२९-१-२०१७
१:०१
————————-

144 Views
You may also like:
नभ के दोनों छोर निलय में –नवगीत
रकमिश सुल्तानपुरी
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
💐💐सुषुप्तयां 'मैं' इत्यस्य भासः न भवति💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बहुत हुशियार हो गए है लोग
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
तेरे हाथों में जिन्दगानियां
DESH RAJ
पेड़ - बाल कविता
Kanchan Khanna
माँ की परिभाषा मैं दूँ कैसे?
Jyoti Khari
एक दिया अनजान साथी के नाम
DR ARUN KUMAR SHASTRI
!¡! बेखबर इंसान !¡!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
बहुआयामी वात्सल्य दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
महापंडित ठाकुर टीकाराम
श्रीहर्ष आचार्य
भावना
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
संघर्ष
Arjun Chauhan
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
प्रणाम : पल्लवी राय जी तथा सीन शीन आलम साहब
Ravi Prakash
नारी है सम्मान।
Taj Mohammad
क्या लिखूं मैं मां के बारे में
Krishan Singh
मिला है जब से साथ तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
Once Again You Visited My Dream Town
Manisha Manjari
दरारों से।
Taj Mohammad
ग़ज़ल
Anis Shah
$दोहे- सुबह की सैर पर
आर.एस. 'प्रीतम'
ग़ज़ल
सुरेखा कादियान 'सृजना'
ग़ज़ल
kamal purohit
✍️✍️हौंसला✍️✍️
"अशांत" शेखर
हाइकु:(लता की यादें!)
Prabhudayal Raniwal
कर तू कोशिश कई....
Dr. Alpa H. Amin
💐💐प्रेम की राह पर-13💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सौगंध
Shriyansh Gupta
Loading...