Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

क्लासिफ़ाइड

कुछ इस तरह से नौकरियों का मामला हाइड
निकलता है
जैसे अनपढ़ और ग्रेजुएट लिए क्लासिफाइड
निकलता है

अख़बार के पन्ने दिखाते अनगिनत सपने
बेरोजगारों को तो भरोसा हो भी जाता है
कुछ निकल पड़ते हैं नौकरी के पते पर
इस रास्ते में बहुत कुछ खो भी जाता है
लोगों को लूटने का धंधा बहुत वाइड
निकलता है
जैसे अनपढ़ और ग्रेजुएट लिए क्लासिफाइड
निकलता है

समझ से परे तनख्वाह की फेहरिस्त अख़बारों में
कुछ पोस्टर भी मिल जाते हैं हर गली – चौबारों में
क्या इस तरह से तनख्वाह का भी टाइड
निकलता है
जैसे अनपढ़ और ग्रेजुएट लिए क्लासिफाइड
निकलता है

बचत भी नौकरी के चक्कर में यूँही बर्बाद होती है
बेरोजगारी जस की तस फिर से वहीं आबाद होती है
लक आगे भी न बढ़ता है न ही साइड
निकलता है
जैसे अनपढ़ और ग्रेजुएट लिए क्लासिफाइड
निकलता है
-सिद्धार्थ गोरखपुरी

102 Views
You may also like:
मयंक के जन्मदिन पर बधाई
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️डार्क इमेज...!✍️
"अशांत" शेखर
** तक़दीर की रेखाएँ **
Dr. Alpa H. Amin
दुखो की नैया
AMRESH KUMAR VERMA
The Send-Off Moments
Manisha Manjari
दंगा पीड़ित
Shyam Pandey
हवा के झोंको में जुल्फें बिखर जाती हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
यह तो वक़्त ही बतायेगा
gurudeenverma198
"ममता" (तीन कुण्डलिया छन्द)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नजरों की तलाश
Dr. Alpa H. Amin
ये दिल मेरा था, अब उनका हो गया
Ram Krishan Rastogi
BADA LADKA
Prasanjeetsharma065
फरियाद
Anamika Singh
तेरे होने का अहसास
Dr. Alpa H. Amin
🌺प्रेम की राह पर-45🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बुआ आई
राजेश 'ललित'
प्रेरक संस्मरण
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
*श्री प्रदीप कुमार बंसल उर्फ मुन्ना बंसल की याद*
Ravi Prakash
परदेश
DESH RAJ
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
आप से हैं गुज़ारिश हमारी.... 
Dr. Alpa H. Amin
मेरे पापा जैसे कोई....... है न ख़ुदा
Nitu Sah
'पिता' हैं 'परमेश्वरा........
Dr. Alpa H. Amin
इश्क़ में क्या हार-जीत
N.ksahu0007@writer
कुछ काम करो
Anamika Singh
"पिता"
Dr. Alpa H. Amin
Feel it and see that
Taj Mohammad
जोशवान मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...