Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-360💐

क्यों कोई नया किस्सा बुन रहा है,
जो मेरे दिल में है वो मुझे सुन रहा है,
तकलीफ़ नहीं हुई,बे-एतिबार कह दिया,
तुम नहीं तो कौन है जो मुझे सुन रहा है।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
116 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
दो पल की जिन्दगी मिली ,
दो पल की जिन्दगी मिली ,
Nishant prakhar
"ये बात बाद की है,
*Author प्रणय प्रभात*
बादल  खुशबू फूल  हवा  में
बादल खुशबू फूल हवा में
shabina. Naaz
इज़हार ज़रूरी है
इज़हार ज़रूरी है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
सूरज आया संदेशा लाया
सूरज आया संदेशा लाया
AMRESH KUMAR VERMA
एक रावण है अशिक्षा का
एक रावण है अशिक्षा का
Seema Verma
तुम इश्क लिखना,
तुम इश्क लिखना,
Adarsh Awasthi
जी लगाकर ही सदा,
जी लगाकर ही सदा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बुद्ध को अपने याद करो ।
बुद्ध को अपने याद करो ।
Buddha Prakash
आवश्यकता पड़ने पर आपका सहयोग और समर्थन लेकर,आपकी ही बुराई कर
आवश्यकता पड़ने पर आपका सहयोग और समर्थन लेकर,आपकी ही बुराई कर
विमला महरिया मौज
शर्म
शर्म
परमार प्रकाश
चांद से सवाल
चांद से सवाल
Nanki Patre
बदलते चेहरे हैं
बदलते चेहरे हैं
Dr fauzia Naseem shad
मक्खनबाजी में सदा , रहो बंधु निष्णात (कुंडलिया)
मक्खनबाजी में सदा , रहो बंधु निष्णात (कुंडलिया)
Ravi Prakash
सब्र रख
सब्र रख
VINOD KUMAR CHAUHAN
गज़ल सी रचना
गज़ल सी रचना
Kanchan Khanna
ज़िन्दगी की गोद में
ज़िन्दगी की गोद में
Rashmi Sanjay
चाय जैसा तलब हैं मेरा ,
चाय जैसा तलब हैं मेरा ,
Rohit yadav
मुझे बदनाम करने की कोशिश में लगा है.........,
मुझे बदनाम करने की कोशिश में लगा है.........,
कवि दीपक बवेजा
शिक्षा एवं धर्म
शिक्षा एवं धर्म
Abhineet Mittal
बचपन
बचपन
नन्दलाल सुथार "राही"
💐प्रेम कौतुक-431💐
💐प्रेम कौतुक-431💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
संघर्ष के बिना
संघर्ष के बिना
gurudeenverma198
🍂तेरी याद आए🍂
🍂तेरी याद आए🍂
Dr Manju Saini
भारत और मीडिया
भारत और मीडिया
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
प्रणय 10
प्रणय 10
Ankita Patel
जीवन के बुझे हुए चिराग़...!!!
जीवन के बुझे हुए चिराग़...!!!
Jyoti Khari
मेरी माँ तू प्यारी माँ
मेरी माँ तू प्यारी माँ
Vishnu Prasad 'panchotiya'
जीवन अगर आसान नहीं
जीवन अगर आसान नहीं
Rashmi Mishra
सांप्रदायिक उन्माद
सांप्रदायिक उन्माद
Shekhar Chandra Mitra
Loading...