Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

क्या हुआ है मुझे मैं नहीं जानता बस तेरे पास आने को दिल मांगता !

क्या हुआ है मुझे मैं नहीं जानता
बस तेरे पास आने को दिल मांगता!
तेरे पास आऊं तुझको ही देखा करूँ
तुमसे मिलने की राहें मैं खोजा करूँ
हर गली से तेरा मैं पता मांगता
क्या हुआ है मुझे मैं नहीं जानता
बस तेरे पास आने को दिल मांगता!
तेरी तस्वीर आंखोँम्में है बस गयी
इस चमन में नयी इक कली खिल गयी
ख़ाक गुलशन की मैं बस रहा छानता
क्या हुआ है मुझे मैं नहीं जानता
बस तेरे पास आने को दिल मांगता!
तेरे हाथों की मेंहदी मैं बन ना सका
केश को तेरे मैं पुष्प चुन ना सका
प्यार मुझको खतावार है मानता
क्या हुआ है मुझे मैं नहीं जानता
बस तेरे पास आने को दिल मांगता
प्रीत पावन तुम्हारी खुदा की कसम
रीत विपरीत उल्टी यहाँ की रसम
तेरे अर्चन को बस दो सुमन मांगता
क्या हुआ है मुझे मैं नहीं जानता
बस तेरे पास आने को दिल मांगता!

228 Views
You may also like:
दीवार में दरार
VINOD KUMAR CHAUHAN
हम तुमसे जब मिल नहीं पाते
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अब आ भी जाओ पापाजी
संदीप सागर (चिराग)
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
Taj Mohammad
हर घर तिरंगा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
यादें
kausikigupta315
हवा का हुक़्म / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता का पता
श्री रमण 'श्रीपद्'
अपना ख़्याल
Dr fauzia Naseem shad
मुझे आज भी तुमसे प्यार है
Ram Krishan Rastogi
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
वृक्ष थे छायादार पिताजी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
काफ़िर का ईमाँ
DEVSHREE PAREEK 'ARPITA'
पंचशील गीत
Buddha Prakash
जिस नारी ने जन्म दिया
VINOD KUMAR CHAUHAN
प्राकृतिक आजादी और कानून
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
राष्ट्रवाद का रंग
मनोज कर्ण
उलझनें_जिन्दगी की
मनोज कर्ण
If we could be together again...
Abhineet Mittal
तुमसे कोई शिकायत नही
Ram Krishan Rastogi
काश मेरा बचपन फिर आता
साहित्य लेखन- एहसास और जज़्बात
गर्मी का कहर
Ram Krishan Rastogi
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
तप रहे हैं प्राण भी / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बेटियों तुम्हें करना होगा प्रश्न
rkchaudhary2012
घनाक्षरी छंद
शेख़ जाफ़र खान
कौन था वो ?...
मनोज कर्ण
मजबूर ! मजदूर
शेख़ जाफ़र खान
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
Loading...