Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-276💐

क्या अभी कोई शुक्राना रहा है बाक़ी?
कब,किसकी प्यास बुझा सका है साक़ी?

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
41 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
मैं किताब हूँ
मैं किताब हूँ
Arti Bhadauria
कैसे अम्बर तक जाओगे
कैसे अम्बर तक जाओगे
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
विचार मंच भाग - 4
विचार मंच भाग - 4
Rohit Kaushik
धार तुम देते रहो
धार तुम देते रहो
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
चंद अशआर - हिज्र
चंद अशआर - हिज्र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
Yashmehra
Yashmehra
Yash mehra
आशिकी
आशिकी
Sahil
शिव अराधना
शिव अराधना
नवीन जोशी 'नवल'
इन टिमटिमाते तारों का भी अपना एक वजूद होता है
इन टिमटिमाते तारों का भी अपना एक वजूद होता है
ruby kumari
मन-मंदिर में यादों के नित, दीप जलाया करता हूँ ।
मन-मंदिर में यादों के नित, दीप जलाया करता हूँ ।
Ashok deep
चलो कुछ दूर तलक चलते हैं
चलो कुछ दूर तलक चलते हैं
Bodhisatva kastooriya
वाह सीनियर लोग (हिंदी गजल/गीतिका)
वाह सीनियर लोग (हिंदी गजल/गीतिका)
Ravi Prakash
The Digi Begs [The Online Beggars]
The Digi Begs [The Online Beggars]
AJAY AMITABH SUMAN
आज समझी है ज़िंदगी हमने
आज समझी है ज़िंदगी हमने
Dr fauzia Naseem shad
तुम्हारे लिए हम नये साल में
तुम्हारे लिए हम नये साल में
gurudeenverma198
बगावत का बिगुल
बगावत का बिगुल
Shekhar Chandra Mitra
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
Anis Shah
दिल चाहे कितने भी,
दिल चाहे कितने भी,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"माँ"
इंदु वर्मा
इबादत अपनी
इबादत अपनी
Satish Srijan
बेटियां
बेटियां
डॉ प्रवीण ठाकुर
यथार्थ
यथार्थ
Shyam Sundar Subramanian
कुछ समय पहले तक
कुछ समय पहले तक
*Author प्रणय प्रभात*
इश्क का भी आज़ार होता है।
इश्क का भी आज़ार होता है।
सत्य कुमार प्रेमी
Kudrat taufe laya hai rang birangi phulo ki
Kudrat taufe laya hai rang birangi phulo ki
Sakshi Tripathi
बुद्ध रूप ने मोह लिया संसार।
बुद्ध रूप ने मोह लिया संसार।
Buddha Prakash
मैं उसको ढूंढ रहा हूँ
मैं उसको ढूंढ रहा हूँ
Chunnu Lal Gupta
तेरे इंतज़ार में
तेरे इंतज़ार में
Surinder blackpen
पत्तों से जाकर कोई पूंछे दर्द बिछड़ने का।
पत्तों से जाकर कोई पूंछे दर्द बिछड़ने का।
Taj Mohammad
मर्द का दर्द
मर्द का दर्द
Anil chobisa
Loading...