Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

कौन हैं यहाँ ‘दूध की धुली’ ?

मित्रो ! सुनो, मेरी बात !!
कि कौन हैं यहाँ
दूध की धुली ?
किस हाथ में दही नहीं जमता,
दीया बिना बाती,
कली बिन सोलहों श्रृंगार,
यादों के रोशन चेहरे,
अपरिचित स्वप्न,
मृत स्वप्न,
इनमें भी श्रोत बन पाई हूँ,
कचरे के गड्ढे से निकलकर-
गूँगे की आवाज बन पाई हूँ।

5 Likes · 6 Comments · 276 Views
You may also like:
गर हमको पता होता।
Taj Mohammad
चौदह अगस्त: विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस
Ravi Prakash
मैं कुछ कहना चाहता हूं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
नीति प्रकाश : फारसी के प्रसिद्ध कवि शेख सादी द्वारा...
Ravi Prakash
✍️वो भूल गये है...!!✍️
'अशांत' शेखर
अभी बाकी है
Lamhe zindagi ke by Pooja bharadawaj
"समय का पहिया"
Ajit Kumar "Karn"
खेत
Buddha Prakash
इंतजार
Anamika Singh
मेरी आंखों का
Dr fauzia Naseem shad
✍️कसम खुदा की..!✍️
'अशांत' शेखर
छाँव पिता की
Shyam Tiwari
“ ईमानदार चोर ”
DrLakshman Jha Parimal
राखी त्यौहार बंधन का - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
जिंदगी का राज
Anamika Singh
मन का मोह
AMRESH KUMAR VERMA
व्यास पूर्णिमा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
" एक हद के बाद"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
बेबस पिता
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
बुंदेली दोहा शब्द- थराई
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
कितनी बार लड़ हम गए
gurudeenverma198
हे गुरू।
Anamika Singh
वक्त
AMRESH KUMAR VERMA
सूरज का ताप
सतीश मिश्र "अचूक"
पढ़ाई-लिखाई एक बोझ
AMRESH KUMAR VERMA
हर किसी में अदबो-लिहाज़ ना होता है।
Taj Mohammad
ज़िंदगी से सवाल
Dr fauzia Naseem shad
✍️"बारिश भी अक्सर भुख छीन लेती है"✍️
'अशांत' शेखर
✍️न जाने वो कौन से गुनाहों की सज़ा दे रहा...
Vaishnavi Gupta
आओ हम याद करे
Anamika Singh
Loading...