Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2022 · 1 min read

कोशिश करने वालों की हार नहीं होती हैं

डॉ अरूण कुमार शास्त्री 💐 एक अबोध बालक💐 अरुण अतृप्त

* कोशिश करने वालों की हार नहीं होती हैं *

सफर इतना तन्हा रहेगा मिरा कब् तलक
न साथी मिलेगा मिरा मुझको जब तलक

नहीं कोई रंजिश है मुझको किसी से
नहीं कोई बंदिश है मुझको कहीं से

रहूँगा अकेला अकेला यहाँ कब् तलक
न साथी मिलेगा मिरा मुझको जब तलक

ये दुनिया है फ़ानी नहीं कोई जानी
अजब है कहानी
ये दुनिया है फ़ानी नहीं कोई जानी
अजब है कहानी

सफर इतना तन्हा रहेगा मिरा कब् तलक
न साथी मिलेगा मिरा मुझको जब तलक

शकल है गी देखो मेरी, नही ऐसी वैसी
हुआ क्या अदायें जो , नहीं शायर जैसी

हुँ गोगल लगा के मैं , जचता, हुँ भाई
किसी स्टार से कम न लगता, हुँ भाई

मिला लो न भाई , किसी से न हुँ कम
मिरि जिन्दगी फिर काहे को हुई हेगी बेदम

सफर इतना तन्हा रहेगा मिरा कब् तलक
न साथी मिलेगा मिरा मुझको जब तलक

तलाश मेरी मुझको मिलेगी है विश्वास पूरा
खुदा साथ् देगा मुझे साथी देगा है विश्वास पूरा

वो सबकी है सुनता वो मेरी सुनेगा
दिया है कटोरा तो भोजन भी देगा

ये दुनिया है फ़ानी नहीं कोई जानी
अजब है कहानी
ये दुनिया है फ़ानी नहीं कोई जानी
अजब है कहानी

नहीं कोई रंजिश है मुझको किसी से
नहीं कोई बंदिश है मुझको कहीं से

रहूँगा अकेला अकेला यहाँ कब् तलक
न साथी मिलेगा मिरा मुझको जब तलक

3 Likes · 4 Comments · 199 Views
You may also like:
तुलसी दास जी के
Surya Barman
कब मरा रावण
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हिंदी का गुणगान
जगदीश लववंशी
कोई ख़्वाहिश नहीं
Dr fauzia Naseem shad
कटी नयन में रात...
डॉ.सीमा अग्रवाल
क्या ख़ूब हसीं तुझको क़ुदरत ने बनाया है
Irshad Aatif
कृष्ण वंदना
लक्ष्मी सिंह
Computer Device
Buddha Prakash
पूर्व जन्म के सपने
RAKESH RAKESH
तिरंगा
Pakhi Jain
देश के हित मयकशी करना जरूरी है।
सत्य कुमार प्रेमी
काँच सा नाजुक मेरा दिल इस तरह टूटा बिखरकर
Dr Archana Gupta
मेरी हर शय बात करती है
Sandeep Albela
■ विचार
*Author प्रणय प्रभात*
पुस्तक समीक्षा-प्रेम कलश
राकेश चौरसिया
हिकायत से लिखी अब तख्तियां अच्छी नहीं लगती
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
बिस्तर की सिलवटों में
Kaur Surinder
मुक्तक
प्रीतम श्रावस्तवी
प्रकाश
Saraswati Bajpai
बहुत याद आएंगे श्री शौकत अली खाँ एडवोकेट
Ravi Prakash
इतना मत लिखा करो
सूर्यकांत द्विवेदी
# सुप्रभात .....
Chinta netam " मन "
✍️ इंसान सिखता जरूर है...!
'अशांत' शेखर
जो हर पल याद आएगा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ए'तिराफ़-ए-'अहद-ए-वफ़ा
Shyam Sundar Subramanian
द्विराष्ट्र सिद्धान्त के मुख्य खलनायक
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Book of the day: काव्य मंजूषा (एक काव्य संकलन)
Sahityapedia
शस्त्र उठाना होगा
वीर कुमार जैन 'अकेला'
@@कामना च आवश्यकता च विभेदः@@
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
माँ आई
Kavita Chouhan
Loading...