Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 8, 2021 · 1 min read

कोयल सा मीठा

जहर भरा हुआ
मन में
कोयल सा मीठा पर
कूकती है
दिन रात बांधकर
गले में
प्यार का झूठा फंदा
वह पल पल
मेरे मरने का
इंतजार करती है।

मीनल
सुपुत्री श्री प्रमोद कुमार
इंडियन डाईकास्टिंग इंडस्ट्रीज
सासनी गेट, आगरा रोड
अलीगढ़ (उ.प्र.) – 202001

2 Likes · 251 Views
You may also like:
ऐ जिन्दगी
Anamika Singh
मुकरियां_ गिलहरी
Manu Vashistha
हमने वफ़ा निभाई है।
Taj Mohammad
नवगीत -
Mahendra Narayan
सदा बढता है,वह 'नायक', अमल बन ताज ठुकराता|
Pt. Brajesh Kumar Nayak
साँझ ढल रही है
अमित नैथानी 'मिट्ठू' (अनभिज्ञ)
ग़ज़ल
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
वो पहलू में आयें तभी बात होगी।
सत्य कुमार प्रेमी
सावन मास निराला
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️बोन्साई✍️
'अशांत' शेखर
बुद्ध या बुद्धू
Priya Maithil
अवधी की आधुनिक प्रबंध धारा: हिंदी का अद्भुत संदोह
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*फहराऍं आज तिरंगा (देशभक्ति गीत)*
Ravi Prakash
कोई तो है कहीं पे।
Taj Mohammad
चाह इंसानों की
AMRESH KUMAR VERMA
गजल क्या लिखूँ कोई तराना नहीं है
VINOD KUMAR CHAUHAN
✍️कोई मसिहाँ चाहिए..✍️
'अशांत' शेखर
“ कोरोना ”
DESH RAJ
✍️छांव और धुप✍️
'अशांत' शेखर
आंसूओं की नमी
Dr fauzia Naseem shad
'पिता' हैं 'परमेश्वरा........
Alpa
सत् हंसवाहनी वर दे,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
पहनते है चरण पादुकाएं ।
Buddha Prakash
गीता की महत्ता
Pooja Singh
मेहनत
Arjun Chauhan
Love never be painful
Buddha Prakash
पैसा बना दे मुझको
Shivkumar Bilagrami
शहरों के हालात
Ram Krishan Rastogi
*जो हुकुम सरकार (गीतिका)*
Ravi Prakash
सागर
Vikas Sharma'Shivaaya'
Loading...