Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

¡~¡ कोयल, बुलबुल और पपीहा ¡~¡

मौसम आया है गर्मी का, कोयल की कूंक लगे प्यारी
पीपल, गूलर पर फल आए, गायें पंक्षी महंके क्यारी
मौसम आया है……..
1) पपीहा टेर सुनाए, खाए गर्मी के फल नए – नए
गाये नया तराना बुलबुल, सबके मन प्रसन्न भए
पतझड़ गया बसंत है आया, महकी सारी फुलवारी
मौसम आया है……..
2) सुबह हुई चिड़िया चहचाईं, भंवरों ने गुंजार किया
बगिया का दामन प्रसन्नचित्त, धरती को नव रूप दिया
तितली सैर करें फूलों पर, फूल खिले कितने भारी
मौसम आया है……….
3) बारिश ने आ दस्तक दी, अंबर से बरसा भर – भर जल
पेड़ लगाओ बाग उगाओ,पेड़ से जल तो ही तो कल
पहला कदम आपका हो, प्रकृति रहेगी आभारी
मौसम आया है………
लेखक :- खैमसिंह सैनी
भरतपुर,( राजस्थान )
मो.न. 9266035599

1 Like · 226 Views
You may also like:
योग दिवस पर कुछ दोहे
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
गुरु की महिमा***
Prabhavari Jha
इन्तज़ार का दर्द
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अन्याय का साथी
AMRESH KUMAR VERMA
बेटी की मायका यात्रा
Ashwani Kumar Jaiswal
मनुआँ काला, भैंस-सा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
चाहत
Lohit Tamta
अफसोस-कर्मण्य
Shyam Pandey
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
*आचार्य बृहस्पति और उनका काव्य*
Ravi Prakash
तुम्हारा हर अश्क।
Taj Mohammad
जिज्ञासा
Rj Anand Prajapati
✍️✍️तो सूर्य✍️✍️
"अशांत" शेखर
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
बना कुंच से कोंच,रेल-पथ विश्रामालय।।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मौसम बदल रहा है
Anamika Singh
और जीना चाहता हूं मैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पापा आप बहुत याद आते हो।
Taj Mohammad
He is " Lord " of every things
Ram Ishwar Bharati
ईश्वर ने दिया जिंन्दगी
Anamika Singh
कलियों को फूल बनते देखा है।
Taj Mohammad
आज की नारी हूँ
Anamika Singh
💐 हे तात नमन है तुमको 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बंदर भैया
Buddha Prakash
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
🙏मॉं कालरात्रि🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
पितृ स्तुति
दुष्यन्त 'बाबा'
उसकी मासूमियत
VINOD KUMAR CHAUHAN
सुन री पवन।
Taj Mohammad
Loading...