Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-440💐

कोई बे-वक़्त हमें यूँ हीं मायूस करता है,
सर-ए-आम बे-एतिबार की बात करता है,
अख़्लाक़ समझकर ही उनसे मेरे बयान थे,
लौट लौटकर क्यूँ वो शिकवे की बात करता है।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
36 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
बैठ अटारी ताकता, दूरी नभ की फाँद।
बैठ अटारी ताकता, दूरी नभ की फाँद।
डॉ.सीमा अग्रवाल
कोरोना महामारी
कोरोना महामारी
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि ’
मीठे बोल या मीठा जहर
मीठे बोल या मीठा जहर
विजय कुमार अग्रवाल
कई लोगों के दिलों से बहुत दूर हुए हैं
कई लोगों के दिलों से बहुत दूर हुए हैं
कवि दीपक बवेजा
Forgive everyone 🙂
Forgive everyone 🙂
Vandana maurya
तुझमें वह कशिश है
तुझमें वह कशिश है
gurudeenverma198
खामोशी की आहट
खामोशी की आहट
Buddha Prakash
नफरते का दौर . .में
नफरते का दौर . .में
shabina. Naaz
*जल्दी उठना सीखो (बाल कविता)*
*जल्दी उठना सीखो (बाल कविता)*
Ravi Prakash
💝एक अबोध बालक💝
💝एक अबोध बालक💝
DR ARUN KUMAR SHASTRI
2232.
2232.
Dr.Khedu Bharti
'Being human is not that easy..!' {awarded poem}
'Being human is not that easy..!' {awarded poem}
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
You cannot find me in someone else
You cannot find me in someone else
Sakshi Tripathi
मुझ पर तुम्हारे इश्क का साया नहीं होता।
मुझ पर तुम्हारे इश्क का साया नहीं होता।
सत्य कुमार प्रेमी
अंदर से टूट कर भी
अंदर से टूट कर भी
Dr fauzia Naseem shad
तस्वीर देख कर सिहर उठा था मन, सत्य मरता रहा और झूठ मारता रहा…
तस्वीर देख कर सिहर उठा था मन, सत्य मरता रहा और झूठ मारता रहा…
Anand Kumar
वीर हनुमान
वीर हनुमान
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
इस धरती पर
इस धरती पर
surenderpal vaidya
💐प्रेम कौतुक-322💐
💐प्रेम कौतुक-322💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
[पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य] अध्याय- 5
[पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य] अध्याय- 5
Pravesh Shinde
देशभक्ति का राग सुनो
देशभक्ति का राग सुनो
Sandeep Pande
किसी ने सही ही कहा है कि आप जितनी आगे वाले कि इज्ज़त करोंगे व
किसी ने सही ही कहा है कि आप जितनी आगे वाले कि इज्ज़त करोंगे व
Shankar J aanjna
मूर्ख जनता-धूर्त सरकार
मूर्ख जनता-धूर्त सरकार
Shekhar Chandra Mitra
हिंदी दोहा शब्द - भेद
हिंदी दोहा शब्द - भेद
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"वो ख़तावार है जो ज़ख़्म दिखा दे अपने।
*Author प्रणय प्रभात*
आदमी से आदमी..
आदमी से आदमी..
Vijay kumar Pandey
आवारगी मिली
आवारगी मिली
Satish Srijan
मनहरण घनाक्षरी
मनहरण घनाक्षरी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
"ब्रेजा संग पंजाब"
Dr Meenu Poonia
Loading...