Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#10 Trending Author
May 9, 2022 · 1 min read

कोई तो दिन होगा।

कोई तो दिन होगा जिसकी शाम मेरी होगी।
दीवानगी का आलम होगा आवाम मेरी होगी।।1।।

मेहनतकश हूं मेहनत करूंगा इस जहां में।
कुछ वक्त बाद ही सही पर पहचान मेरी होगी।।2।।

आज गर्दिशों में हुं तो क्या हुआ जिन्दगी।
एक दिन ये आसमान मेरा,ये जमीं मेरी होगी।।3।।

आज मिलने को मना कर रहे हो तुम जो।
एक दिन यह सारी दुनियां कद्रदान मेरी होगी।।4।।

तड़पोगे मुझसे मिलने को तुम जिंदगी में।
मुझे प्यार तो होगा पर हस्ती बेनाम तेरी होगी।।5।।

वक्त सबका बदलता है मेरा भी बदलेगा।
तुफान में भी साहिल पर ये कश्ती मेरी होगी।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 69 Views
You may also like:
पिता
अवध किशोर 'अवधू'
धुँध
Rekha Drolia
माँ तुम सबसे खूबसूरत हो
Anamika Singh
दुनिया
Rashmi Sanjay
मुझसे बचकर वह अब जायेगा कहां
Ram Krishan Rastogi
अशांत मन
Mahender Singh Hans
मैं बेटी हूँ।
Anamika Singh
सारी फिज़ाएं छुप सी गई हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
दिवस नहीं मनाये जाते हैं...!!!
Kanchan Khanna
दया करो भगवान
Buddha Prakash
*राजा राम सिंह : रामपुर और मुरादाबाद के पितामह*
Ravi Prakash
आदमी कितना नादान है
Ram Krishan Rastogi
नवगीत
Mahendra Narayan
सोने की दस अँगूठियाँ….
Piyush Goel
उम्मीद का चराग।
Taj Mohammad
हो दर्दे दिल तो हाले दिल सुनाया भी नहीं जाता।
सत्य कुमार प्रेमी
【6】** माँ **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
आ सजाऊँ भाल पर चंदन तरुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
गर्दिशे जहाँ पा गये।
Taj Mohammad
मेहनत
AMRESH KUMAR VERMA
हंसगति छंद , विधान और विधाएं
Subhash Singhai
*भक्त प्रहलाद और नरसिंह भगवान के अवतार की कथा*
Ravi Prakash
हिन्दुस्तान की पहचान(मुक्तक)
Prabhudayal Raniwal
#15_जून
Ravi Prakash
*!* सोच नहीं कमजोर है तू *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
नवाब तो छा गया ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
♡ तेरा ख़याल ♡
Dr. Alpa H. Amin
✍️✍️नींद✍️✍️
"अशांत" शेखर
तात्या टोपे बलिदान दिवस १८ अप्रैल १८५९
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...