Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 12, 2022 · 1 min read

कोई किस्मत से कह दो।

पेश है पूरी ग़ज़ल…

कोई क़िस्मत से कह दो हमको भी साथ ले ले।
कुछ कर दो दुआ शायद यहीं हमको सुकूँ दे दे।।1।।

तन्हाई का आलम है कोई ना है साथ में हमारे।
बेजार है खुदसे कोई हमको राहत के पल दे दे।।2।।

पास है समंदरे आब फिर भी प्यासे है हम बड़े।
कबसे है इंतजार कोई आके ये तिश्नगी बुझादे।।3।।

राहों में तन्हा खड़े है कोईभी हमसफर नही है।
बहुत लम्बा है रास्ता कोई चलने को साथ दे दे।।4।।

कबसे पड़े है ये पत्थर रास्तों पे बेनाम से सारे।
रख कर मंदिर में कोई इनको भी खुदा बना दे।।5।।

ऐसा ना है कि खुशियां जहां में खत्म हो गई है।
काश कोई फरिश्ता आके नफरतों को मिटा दे।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

96 Views
You may also like:
ज़िन्दगी
akmotivation6418
✍️अहज़ान✍️
'अशांत' शेखर
हर किसी की बात नही
Anamika Singh
गुमनाम मुहब्बत का आशिक
श्री रमण 'श्रीपद्'
सूरज काका
Dr Archana Gupta
ईश्वर ने दिया जिंन्दगी
Anamika Singh
मुस्कुराइये.....
Chandra Prakash Patel
" जीवित जानवर "
Dr Meenu Poonia
मनुज शरीरों में भी वंदा, पशुवत जीवन जीता है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
महापंडित ठाकुर टीकाराम 18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित
श्रीहर्ष आचार्य
लाख सितारे ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
रिश्तों की अहमियत को न करें नज़र अंदाज़
Dr fauzia Naseem shad
हमनें ख़ामोश
Dr fauzia Naseem shad
"अल्मोड़ा शहर"
Lohit Tamta
*अग्रसेन जी धन्य (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
** मेरे खुदा **
Swami Ganganiya
हम जिधर जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
कहते हैं न....
Varun Singh Gautam
गला रेत इंसान का,मार ठहाके हंसता है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
टोकरी में छोकरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
प्रकृति के साथ जीना सीख लिया
Manoj Tanan
मैं इनकार में हूं
शिव प्रताप लोधी
कुछ दुआ का
Dr fauzia Naseem shad
ये दिल फरेबी गंदा है।
Taj Mohammad
जल जीवन - जल प्रलय
Rj Anand Prajapati
"दोस्त-दोस्ती और पल"
Lohit Tamta
दुआ पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
गाफिल।
Taj Mohammad
कैसे बताऊं,मेरे कौन हो तुम
Ram Krishan Rastogi
ऐ जिन्दगी
Anamika Singh
Loading...