Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-187💐

कोई उलझन नहीं है, इशारों की देर है,
खींचिए तो सही हमें साँसों की डोर से।

” एक चाय/कॉफी के साथ”

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
Tag: Hindi Quotes, Quote Writer
30 Views
You may also like:
नव्य उत्कर्ष
नव्य उत्कर्ष
Dr. Sunita Singh
Writing Challenge- नुकसान (Loss)
Writing Challenge- नुकसान (Loss)
Sahityapedia
कर रहे शुभकामना...
कर रहे शुभकामना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
कभी
कभी
Ranjana Verma
क्या करूँगा उड़ कर
क्या करूँगा उड़ कर
सूर्यकांत द्विवेदी
दशानन
दशानन
जगदीश शर्मा सहज
अतिथि तुम कब जाओगे
अतिथि तुम कब जाओगे
Gouri tiwari
अंतरिक्ष
अंतरिक्ष
Saraswati Bajpai
धूप
धूप
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
होली के रंग
होली के रंग
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
स्याह रात मैं उनके खयालों की रोशनी है
स्याह रात मैं उनके खयालों की रोशनी है
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
किछ पन्नाके छै ई जिनगीहमरा हाथमे कलम नइँमेटाैना थमाएल गेल अछ
किछ पन्नाके छै ई जिनगीहमरा हाथमे कलम नइँमेटाैना थमाएल गेल...
गजेन्द्र गजुर ( Gajendra Gajur )
✍️बचपन था जादुई चिराग✍️
✍️बचपन था जादुई चिराग✍️
'अशांत' शेखर
#एक_गजल
#एक_गजल
*Author प्रणय प्रभात*
अंबेडकर की मूर्ति तोड़े जाने पर
अंबेडकर की मूर्ति तोड़े जाने पर
Shekhar Chandra Mitra
जीवन
जीवन
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
कुन का महल
कुन का महल
Satish Srijan
जो अंधेरा हुआ नहीं
जो अंधेरा हुआ नहीं
Dr fauzia Naseem shad
शिशिर का स्पर्श / (ठंड का नवगीत)
शिशिर का स्पर्श / (ठंड का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
भक्त गोरा कुम्हार
भक्त गोरा कुम्हार
Pravesh Shinde
# डॉ अरुण कुमार शास्त्री
# डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
“निर्जीव हम बनल छी”
“निर्जीव हम बनल छी”
DrLakshman Jha Parimal
आवो हम इस दीपावली पर
आवो हम इस दीपावली पर
gurudeenverma198
किसी की याद आना
किसी की याद आना
श्याम सिंह बिष्ट
रूठना
रूठना
Shiva Awasthi
कता
कता
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Ajj bade din bad apse bat hui
Ajj bade din bad apse bat hui
Sakshi Tripathi
अपनापन
अपनापन
shabina. Naaz
*पत्रिका समीक्षा*
*पत्रिका समीक्षा*
Ravi Prakash
जिन्दगी खर्च हो रही है।
जिन्दगी खर्च हो रही है।
Taj Mohammad
Loading...