Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 15, 2022 · 1 min read

कैसी है ये पीर पराई

सूनी सांझ,सूना है मन,सूनी है दिल की गहराई
सूने मन को कुछ ना भाए,भाए दिल को तन्हाई
खोया है क्या समझ ना आए बस दिल घबराए
रोना चाहें अश्रु ना आएं कैसी है ये पीर पराई

4 Likes · 74 Views
You may also like:
अहसास
Vikas Sharma'Shivaaya'
तुझे वो कबूल क्यों नहीं हो मैं हूं
Krishan Singh
न और ना प्रयोग और अंतर
Subhash Singhai
अहंकार
AMRESH KUMAR VERMA
Keep faith in GOD and yourself.
Taj Mohammad
अशक्त परिंदा
AMRESH KUMAR VERMA
ढह गया …
Rekha Drolia
"मेरे पिता"
vikkychandel90 विक्की चंदेल (साहिब)
मां सरस्वती
AMRESH KUMAR VERMA
शून्य है कमाल !
Buddha Prakash
रूठ गई हैं बरखा रानी
Dr Archana Gupta
यह कौन सा विधान है
Vishnu Prasad 'panchotiya'
नागफनी बो रहे लोग
शेख़ जाफ़र खान
अखंड भारत की गौरव गाथा।
Taj Mohammad
दया करो भगवान
Buddha Prakash
ऐ दिल सब्र कर।
Taj Mohammad
उपज खोती खेती
विनोद सिल्ला
रिश्तों की बदलती परिभाषा
Anamika Singh
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस
Ram Krishan Rastogi
पिता
Dr.Priya Soni Khare
कितनी पीड़ा कितने भागीरथी
सूर्यकांत द्विवेदी
हमारी ग़ज़लों पर झूमीं जाती है
Vinit Singh
जीतने की उम्मीद
AMRESH KUMAR VERMA
Love song
श्याम सिंह बिष्ट
"याद आओगे"
Ajit Kumar "Karn"
शाश्वत सत्य की कलम से।
Manisha Manjari
अजब कहानी है।
Taj Mohammad
तेरी हर बात सनद है, हद है
Anis Shah
पावन पवित्र धाम....
Dr. Alpa H. Amin
उम्मीद की किरण हैंं बड़ी जादुगर....
Dr. Alpa H. Amin
Loading...