Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

कुम्हार के बच्चे कब जिलेबी खाएंगे ?

कुम्हार के बच्चे….
मेले में
जांता-चकरी,
सकोरे,
साधू-संन्यासी,
वकील,
मसकबाजेवाले,
बकरी-खिलौने….
बिके तो ‘जिलेबी’ खाएंगे,
वे भाई-बहन….
चाचा नेहरू ने
गुब्बारेवाले के
सभी गुब्बारे
खरीद लिए थे,
इनके कौन खरीदेंगे,
चीनी-जापानी गुड़िये के
इस जमाने में….
स्वदेशी-स्वदेशी कहकर
परदेशी बालम हो जाती है !

2 Likes · 201 Views
You may also like:
प्रीतम दोहावली
आर.एस. 'प्रीतम'
माटी के पुतले
AMRESH KUMAR VERMA
इंसाफ के ठेकेदारों! शर्म करो !
ओनिका सेतिया 'अनु '
"साहिल"
Dr.Alpa Amin
वैवाहिक वर्षगांठ मुक्तक
अभिनव मिश्र अदम्य
मिसाइल मैन
Anamika Singh
है पर्याप्त पिता का होना
अश्विनी कुमार
इश्क कोई बुरी बात नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"चैन से तो मर जाने दो"
रीतू सिंह
*इस बार पार कर दो (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
कभी मिट्टी पर लिखा था तेरा नाम
Krishan Singh
साँझ
Alok Saxena
अच्छा लगता है।
Taj Mohammad
दिलदार आना बाकी है
Jatashankar Prajapati
✍️✍️रंग✍️✍️
"अशांत" शेखर
भारत माँ से प्यार
Swami Ganganiya
मुझे तुम भूल सकते हो
Dr fauzia Naseem shad
"मेरे पापा "
Usha Sharma
Religious Bigotry
Mahesh Ojha
मां-बाप
Taj Mohammad
हमारा घर छोडकर जाना
Dalveer Singh
कोई तो हद होगी।
Taj Mohammad
"समय का पहिया"
Ajit Kumar "Karn"
ईश्वर की परछाई
AMRESH KUMAR VERMA
My dear Mother.
Taj Mohammad
मजदूरों की दुर्दशा
Anamika Singh
बिंदु छंद "राम कृपा"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
स्वाबलंबन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हे ईश्वर क्या मांगू
Anamika Singh
आया आषाढ़
श्री रमण 'श्रीपद्'
Loading...