Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

कुंडलिया छंद

जाकर पूछो तो कभी ,कैसे मित्र मिजाज।
औषधि से हर मर्ज का,होता नहीं इलाज।
होता नहीं इलाज,प्रेम से बढ़कर कोई।
यह सच्ची है बात ,नहीं है किस्सागोई।
अपनेपन के गीत,कभी तो देखो गाकर।
होते सब दुख दूर,पास अपनों के जाकर।।
डाॅ बिपिन पाण्डेय

74 Views
You may also like:
ज़िंदगी का हीरो
AMRESH KUMAR VERMA
दिल हमारा।
Taj Mohammad
यथार्था,,, दर्पणता,,, सरलता।
Taj Mohammad
बे'एतबार से मौसम की
Dr fauzia Naseem shad
✍️सूफ़ियाना जिंदगी✍️
'अशांत' शेखर
नव गीत
Sushila Joshi
*दर्शन प्रभुजी दिया करो (गीत भजन)*
Ravi Prakash
✍️ज़ख्मो का स्वाद✍️
'अशांत' शेखर
" लिखने की कला "
DrLakshman Jha Parimal
हम भी हैं महफ़िल में।
Taj Mohammad
सजल : तिरंगा भारत का
Sushila Joshi
मैं रात-दिन
Dr fauzia Naseem shad
मां ने।
Taj Mohammad
✍️बगावत थी उसकी✍️
'अशांत' शेखर
यक्ष प्रश्न ( लघुकथा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
आजादी का अमृत महोत्सव
surenderpal vaidya
मेरे पिता
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
"कारगिल विजय दिवस"
Lohit Tamta
लूं राम या रहीम का नाम
Mahesh Ojha
मन
Pakhi Jain
✍️बेसब्र मिज़ाज✍️
'अशांत' शेखर
ख्वाब रंगीला कोई बुना ही नहीं ।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
सुधारने का वक्त
AMRESH KUMAR VERMA
1-अश्म पर यह तेरा नाम मैंने लिखा2- अश्म पर मेरा...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️दो पंक्तिया✍️
'अशांत' शेखर
✍️आस्तीन में सांप✍️
'अशांत' शेखर
हर घर तिरंगा
अश्विनी कुमार
" अखंड ज्योत "
Dr Meenu Poonia
मेरी बेटियाँ
लक्ष्मी सिंह
'नटखट नटवर'(डमरू घनाक्षरी)
Godambari Negi
Loading...