Mar 13, 2020 · 1 min read

काश चिरैया तू बिटिया न होती

काश चिरैया तुम बेटी न होती
बेटी भी होती तो इतनी छोटी न होती
मगर क्या ही बदल जाता
तुम नौ साल की न होती
नब्बे की ही होती…
होती तो तुम जननी ही होती
ढेढ़ इंच के जिस्म के हिस्से में
अपने अस्तित्व को ही खोती
काश चिरैया तुम बेटी न होती
होती भी तो इस देश न होती
उन सारे देशों में न होती
जिसमे तेरे हिस्से भोग्या होना बदा होता
तेरे जिस्म में ही तेरा कब्र न खुदा होता
कितने तरहों से कितनी जगहों पे तू
नर्क में उतारी गई, हाय…
कैसे बिटिया तू मारी गई
हाय… ये भूख, ये जिस्म की भूख
मां जाई को ही खा के अपनी आग बुझाती है
चिरैया हर बार जिस्म के नाम पे ही मारी जाती है
काश चिरैया तू बिटिया न होती
~ सिद्धार्थ

3 Likes · 142 Views
You may also like:
एक ख़्वाब।
Taj Mohammad
आपके जाने के बाद
pradeep nagarwal
सफर
Anamika Singh
माँ पर तीन मुक्तक
Dr Archana Gupta
सितम देखते हैं by Vinit Singh Shayar
Vinit Singh
विरह वेदना जब लगी मुझे सताने
Ram Krishan Rastogi
💝 जोश जवानी आये हाये 💝
DR ARUN KUMAR SHASTRI
गैरों की क्या बात करें
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
तपों की बारिश (समसामयिक नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कर तू कोशिश कई....
Dr. Alpa H.
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
इश्क ए दास्तां को।
Taj Mohammad
लाचार बूढ़ा बाप
The jaswant Lakhara
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
वैवाहिक वर्षगांठ मुक्तक
अभिनव मिश्र अदम्य
संविधान निर्माता को मेरा नमन
Surabhi bharati
मिला है जब से साथ तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
राम भरोसे (हास्य व्यंग कविता )
ओनिका सेतिया 'अनु '
पुत्रवधु
Vikas Sharma'Shivaaya'
【6】** माँ **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
ठोकर तमाम खा के....
अश्क चिरैयाकोटी
गौरैया बोली मुझे बचाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
दुखो की नैया
AMRESH KUMAR VERMA
अभी बचपन है इनका
gurudeenverma198
** दर्द की दास्तान **
Dr. Alpa H.
मेरे पिता
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
खुशबू चमन की किसको अच्छी नहीं लगती।
Taj Mohammad
हम गीत ख़ुशी के गाएंगे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नैतिकता और सेक्स संतुष्टि का रिलेशनशिप क्या है ?
Deepak Kohli
Loading...