Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#1 Trending Author
May 20, 2022 · 1 min read

कायनात के जर्रे जर्रे में।

कायनात के जर्रे जर्रे में मोहब्बत ही मोहब्बत भरी है।
और तुम कहते हो नफरत के सिवाय कुछ ना कहीं है।।1।।

तुम अपना नज़रिया बदलो इस दुनियाँ को देखने का।
बहारें फूल बिछाए तेरे इस्तगबाल को हरसम्त खड़ी है।।2।।

खुदा हर किसी को जिन्दगी में रहमत से नवाज़ता है।
अकीदा रख खुदाई पे जो हर किसी को यहां मिली है।।3।।

सुख और दुःख एक ही सिक्के के अपने दो पहलू है।
हो खुशियां या गम ये ज़िंदगी दोनो से ही भरी पड़ी है।।4।।

तेरी भी कश्ती को समन्दर का साहिल मिल जाएगा।
अगर तुझको अपनी जिन्दगी सिर्फ बचाने की पड़ी है।।5।।

यूं खुदा की दुनियां में जुनून की कोई हद ना बनी है।
मिल जाएगा सब कुछ अगर दिल में पाने की लगी है।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 2 Comments · 57 Views
You may also like:
सजना शीतल छांव हैं सजनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
निर्गुण सगुण भेद..?
मनोज कर्ण
FATHER IS REAL GOD
KAMAL THAKUR
💐प्रेम की राह पर-28💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
एक शख्स ही ऐसा होता है
Krishan Singh
शर्म-ओ-हया
Dr. Alpa H. Amin
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
अहसासों से भर जाता हूं।
Taj Mohammad
=*तुम अन्न-दाता हो*=
Prabhudayal Raniwal
पत्ते ने अगर अपना रंग न बदला होता
Dr. Alpa H. Amin
गाँधी जी की लाठी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मोहब्बत का समन्दर।
Taj Mohammad
ए बदरी
Dhirendra Panchal
पत्नि जो कहे,वह सब जायज़ है
Ram Krishan Rastogi
सुकून सा ऐहसास...
Dr. Alpa H. Amin
💐सुरक्षा चक्र💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
नींबू की चाह
Ram Krishan Rastogi
मौन की पीड़ा
Saraswati Bajpai
क्या गढ़ेगा (निर्माण करेगा ) पाकिस्तान
Dr.sima
टोकरी में छोकरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
शिव स्तुति
अभिनव मिश्र अदम्य
अधजल गगरी छलकत जाए
Vishnu Prasad 'panchotiya'
.✍️आशियाना✍️
"अशांत" शेखर
न कोई जगत से कलाकार जाता
आकाश महेशपुरी
महफिल अफसूर्दा है।
Taj Mohammad
चम्पा पुष्प से भ्रमर क्यों दूर रहता है
Subhash Singhai
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
यूं रूबरू आओगे।
Taj Mohammad
सूरज काका
Dr Archana Gupta
भगवान परशुराम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...