Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 29, 2022 · 1 min read

कातिल बन गए है।

खुद को मारकर खुद के ही क़ातिल बन गए है।।
वो देखो खुदा से रूठकर यूँ काफ़िर बन गए है।।

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

1 Like · 2 Comments · 45 Views
You may also like:
✍️मुतअस्सिर✍️
'अशांत' शेखर
कैसा इम्तिहान है।
Taj Mohammad
ढूंढना दिल उसी को
Dr fauzia Naseem shad
# हमको नेता अब नवल मिले .....
Chinta netam " मन "
✍️हृदय में मिलेगा मेरा भारत महान✍️
'अशांत' शेखर
पिता
Neha Sharma
संसर्ग मुझमें
Varun Singh Gautam
हमारा दिल।
Taj Mohammad
अंदाज़ जुदा होता है।
Taj Mohammad
शायद मुझसा चोर नहीं मिल सकेगा
gurudeenverma198
#किताबों वाली टेबल
Seema 'Tu haina'
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
अहसास
Vikas Sharma'Shivaaya'
शारीरिक भाषा (बाॅडी लेंग्वेज)
पूनम झा 'प्रथमा'
तुम चली गई
Dr.Priya Soni Khare
कोई मरहम
Dr fauzia Naseem shad
खानाबदोश ज़िंदगी
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
तेरा जां निसार।
Taj Mohammad
कोहिनूर
Dr.sima
हक़ीक़त ने किसी ख़्वाब की
Dr fauzia Naseem shad
ऐ उम्र
Anamika Singh
हवा
AMRESH KUMAR VERMA
दूध होता है लाजवाब
Buddha Prakash
एक जंग, गम के संग....
Aditya Prakash
💐💐ये पदार्थानां दास भवति।ते भगवतः भक्तः न💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Ye Sochte Huye Chalna Pad Raha Hai Dagar Main
Muhammad Asif Ali
अप्सरा
Nafa writer
ऊंची शिखर की उड़ान
AMRESH KUMAR VERMA
कर्म ही पूजा है।
Anamika Singh
इसी से सद्आत्मिक -आनंदमय आकर्ष हूँ
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...