Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 7, 2022 · 1 min read

कश्ती को साहिल चाहिए।

पेश है पूरी ग़ज़ल…

कश्ती को साहिल चाहिए।
जिदंगी को हासिल चाहिए।।

सफर को मंजिल चाहिए।
जीने को मुस्तकबिल चाहिए।।

रहमते खुदा नाजिल चाहिए।
हर मांगी दुआ कामिल चाहिए।।

इश्क को रूहे दाखिल चाहिए।
यार सुख दुख में शामिल चाहिए।।

कारोबार में काबिल चाहिए।
मुकम्मल दीन को आलिम चाहिए।।

इंसाफ को आदिल चाहिए।
रिश्तों निभाने को आकिल चाहिए।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 2 Comments · 113 Views
You may also like:
वो पत्थर
shabina. Naaz
✍️सिर्फ मिसाले जिंदा रहेगी...!✍️
'अशांत' शेखर
💐योगं विना मुक्ति: नः💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
दिल में चुभती हुई
Dr fauzia Naseem shad
चुप ही रहेंगे...?
मनोज कर्ण
✍️ देखते रह गये..!✍️
'अशांत' शेखर
भगवान सा इंसान को दिल में सजा के देख।
सत्य कुमार प्रेमी
थियोसॉफी की कुंजिका (द की टू थियोस्फी)* *लेखिका : एच.पी....
Ravi Prakash
खुद के बारें में
Dr fauzia Naseem shad
चम्पा पुष्प से भ्रमर क्यों दूर रहता है
Subhash Singhai
जीवन संगीत
Shyam Sundar Subramanian
Gazal
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
सोचो जो बेटी ना होती
लक्ष्मी सिंह
✍️रहनुमा रहता है✍️
'अशांत' शेखर
* साम वेदना *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हासिल करने की ललक होनी चाहिए
Anamika Singh
'शशिधर'(डमरू घनाक्षरी)
Godambari Negi
" DECENCY IN WRITINGS AND EXPRESSING "
DrLakshman Jha Parimal
The Send-Off Moments
Manisha Manjari
मिथ्या मार्ग का फल
AMRESH KUMAR VERMA
जिस नारी ने जन्म दिया
VINOD KUMAR CHAUHAN
कभी मिट्टी पर लिखा था तेरा नाम
Krishan Singh
संस्कार जगाएँ
Anamika Singh
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:35
AJAY AMITABH SUMAN
दर्दे दिल
Anamika Singh
अब जो बिछड़े तो
Dr fauzia Naseem shad
कशमकश
Anamika Singh
मेरे दिल
shabina. Naaz
पहले तेरे हाथों पर
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
Loading...