Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

गिरधर तुम आओ

गिरधर तुम आओ
————: :————–
ज़ुल्म हो रहा है, सितम हो रहा है
सड़क पर सुता का ,हरण हो रहा है ।
बेटी हो अपनी , अगर हो पराई
समझों तुम अपनी, नहीं थी बुराई
नज़रों में प़ाकी , दिलों में सफाई
बरसती नियामत, बिखरती खुदाई
मगर आज देखो ,क्या हो रहा है ,
मानव के अन्तर , असुर सो रहा है ।
महफूज़ पी घर ,न महफूज़ बाबुल
निगेहवां देखें , जाती है मंजिल
भंवर बीच कश्ती, सहमा है साहिल
किनारे पर बैठे , कामुक वो कातिल
सुनाए फरियाद , गज़ब हो रहा है ,
मर्यादा का गुलशन,महक खो रहा है।
खोय जो अस्मत ,पीर होती पर्वत
इज्ज़त तो इज्ज़त है ,बहन या नर्तक
पल -पल है रोती , मरती है ताकत
जहां क्या जाने , जननी की गुर्बत
गिरधर तुम आओ, अरज हो रहा है ,
सिर कट का नारा, बुलंद हो रहा है।
गैरों की रस्में , छोड़ों ए यारों
कन्हा की विरासत, संभालों कुम्हारों
दानव की वृत्तियां, अब तुम सुधारों
सनातन की शिक्षा ,धरा पर उतारो
कलयुगी मती का , क्षरण हो रहा है,
गौतम का प्यारा , चमन रो रहा है ।
——————-: :———————
रचनाकार- शेख जाफर खान

9 Likes · 8 Comments · 435 Views
You may also like:
ताकि याद करें लोग हमारा प्यार
gurudeenverma198
ऐसा मैं सोचता हूँ
gurudeenverma198
अशांत मन
Mahender Singh Hans
कोई तो दिन होगा।
Taj Mohammad
दुआ
Alok Saxena
मां ‌धरती
AMRESH KUMAR VERMA
गुलफाम बन गए हैं।
Taj Mohammad
नफरत की राजनीति...
मनोज कर्ण
विरह का सिरा
Rashmi Sanjay
भारत लोकतंत्र एक पर्याय
Rj Anand Prajapati
हो तुम किसी मंदिर की पूजा सी
Rj Anand Prajapati
पिता ईश्वर का दूसरा रूप है।
Taj Mohammad
💐💐परमात्मा इन्द्रियादिभि: परेय💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*** वीरता
Prabhavari Jha
जंगल में कवि सम्मेलन
मनोज कर्ण
ईश्वर की परछाई
AMRESH KUMAR VERMA
✍️जिंदगी खुला मंचन है✍️
"अशांत" शेखर
लेख : प्रेमचंद का यथार्थ मेरी दृष्टि में
Sushila Joshi
मायका
Anamika Singh
अमृत महोत्सव
Mahender Singh Hans
मन को मत हारने दो
जगदीश लववंशी
'नील गगन की छाँव'
Godambari Negi
श्रेय एवं प्रेय मार्ग
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ऐ!मेरी बेटी
लक्ष्मी सिंह
इसी से सद्आत्मिक -आनंदमय आकर्ष हूँ
Pt. Brajesh Kumar Nayak
आदर्श पिता
Sahil
Once Again You Visited My Dream Town
Manisha Manjari
I know you are not real, just my hallucination.
Manisha Manjari
✍️जंग टल जाये तो बेहतर है✍️
"अशांत" शेखर
सच्चा रिश्ता
DESH RAJ
Loading...