Sep 21, 2016 · 1 min read

‘ देख जवानों की कुर्बानी’

देख जवानों की कुर्बानी
आज तिरंगा भी रोया है ।
जाग उठा जनमत भारत का
बीज एकता का बोया है ।
रोष है छाया अब लो बदला
शोर मचा है अब करो हमला ।
भावुक हर दिल हो रहा है
खून के आँसू रो रहा है ।
देश की संसद तुम भी जागो
दल दल के विरोध को त्यागो ।
एकमत होकर आदेश करो
जनमत का सब रोष हरो ।
बार बार यूँ खूनी हमला
जनता सह न पाएगी ,
आखिर कब तक दानवता से मानवता ,
अहिंसा के चोले में मुँह छिपाएगी ?
कितनी बलि दे दीं निर्दोषों की
कितनी और अभी देनी हैं ?
संसद बतला दो अब सेना को
क्या भूमिका उसे निभानी है ।
आदेश करो बदला लेने का
हड़पी भूमि भी अब ले डालो ,
अखंड करो फिर से भारत को
वीरता अपनी सजा डालो ।
देश के जवानों की वीरता
उनका सुंदर गहना है ,
मातृभूमि की रक्षा हेतु ही
उसको उन्होंने पहना है ।
कायरों के हाथों सोते हमले में
व्यर्थ न उसको जाने दो ,
मातृभूमि की रक्षा का सपना
उनका पूरा होने दो ।

डॉ रीता सिंह
एफ 11 फेज़ 6
आया नगर,नई दिल्ली ।

290 Views
You may also like:
तेरे संग...
Dr. Alpa H.
एक पल,विविध आयाम..!
मनोज कर्ण
दया करो भगवान
Buddha Prakash
पिता हैं धरती का भगवान।
Vindhya Prakash Mishra
*मन या तन *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बाल वीर हनुमान
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:36
AJAY AMITABH SUMAN
गर्मी का रेखा-गणित / (समकालीन नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मैं मेहनत हूँ
Anamika Singh
अंदाज़।
Taj Mohammad
हर सिम्त यहाँ...
अश्क चिरैयाकोटी
हायकु मुक्तक-पिता
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
प्रेम की राह पर -8
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बद्दुआ बन गए है।
Taj Mohammad
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
**यादों की बारिशने रुला दिया **
Dr. Alpa H.
खाली मन से लिखी गई कविता क्या होगी
Sadanand Kumar
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
प्रार्थना
Anamika Singh
पिता है भावनाओं का समंदर।
Taj Mohammad
प्यार भरे गीत
Dr.sima
मन को मोह लेते हैं।
Taj Mohammad
सार्थक शब्दों के निरर्थक अर्थ
Manisha Manjari
संडे की व्यथा
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
सारी दुनिया से प्रेम करें, प्रीत के गांव वसाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बॉर्डर पर किसान
Shriyansh Gupta
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
🙏माॅं सिद्धिदात्री🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
पिता क्या है?
Varsha Chaurasiya
**अशुद्ध अछूत - नारी **
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...