Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jul 29, 2022 · 1 min read

कर्म

आप अपने जीवन में
जैसा कर्म करोगे।
वह आज नही तो कल
अवश्य ही आपके पास
लौट कर आएगा।
इसीलिए जीवन में हमेशा
कर्म अच्छा करे
ताकि परिणाम अच्छा मिल सके।
अनामिका

3 Likes · 2 Comments · 97 Views
You may also like:
“ जालंधर केंट टू अमृतसर ” ( यात्रा संस्मरण )
DrLakshman Jha Parimal
✍️"सूरज"और "पिता"✍️
'अशांत' शेखर
महँगाई
आकाश महेशपुरी
वक्त ए ज़लाल।
Taj Mohammad
ऐ ज़िन्दगी तुझे
Dr fauzia Naseem shad
दोहे
सूर्यकांत द्विवेदी
मित्र
जगदीश लववंशी
कातिल ना मिला।
Taj Mohammad
हैं सितारे खूब, सूरज दूसरा उगता नहीं।
सत्य कुमार प्रेमी
लाल टोपी
मनोज कर्ण
*श्री विष्णु प्रभाकर जी के कर - कमलों द्वारा मेरी...
Ravi Prakash
आज बहुत दिनों बाद
Krishan Singh
A cup of tea ☕
Buddha Prakash
*प्रिय सावन में मतवाली (गीतिका)*
Ravi Prakash
✍️खुशी✍️
'अशांत' शेखर
*अध्यात्म ज्योति :* अंक 1 ,वर्ष 55, प्रयागराज जनवरी -...
Ravi Prakash
कलम की वेदना (गीत)
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
✍️डर काहे का..!✍️
'अशांत' शेखर
O brave soldiers.
Taj Mohammad
मेरा गुरूर है पिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
खैरियत का जवाब आया
Seema Tuhaina
किसी के मेयार पर
Dr fauzia Naseem shad
हाय बरसात दिल दुखाती है
Dr fauzia Naseem shad
✍️किसान की आत्मकथा✍️
'अशांत' शेखर
विद्या पर दोहे
Dr. Sunita Singh
नई तकदीर
मनोज कर्ण
*आज बरसात है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
✍️मानो तो ये भी सही✍️
'अशांत' शेखर
चश्मे-तर जिन्दगी
Dr. Sunita Singh
🌺🌺दोषदृष्टया: साधके प्रभावः🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...