Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 30, 2022 · 2 min read

“कर्मफल

✒️📙जीवन की पाठशाला 📖🖋️

🙏 मेरे सतगुरु श्री बाबा लाल दयाल जी महाराज की जय 🌹

मेरे द्वारा स्वरचित एवं स्वमौलिक छठी कविता :-

विषय – “कर्मफल”

कांटे बिछा कर तू -फूलों की आस ना कर
अहंकार दर्शा कर- नम्रता की आस ना कर
जख्म को उसके कुरेद कर तू- मरहम की आस ना कर
गुनाहों की बखशीश मांग -उससे रहम की फ़रियाद कर -1

तुझे पता है की तूने इम्तिहान में क्या लिखा है
प्रश्न पत्र कठिन था -समय कम था -पढ़े हुए से बाहर का आया था
ये दर्शा कर तू अपनों को नहीं अपने आपको धोखा दे रहा है
तुझे अच्छी तरह पता है परिणाम का -2

एक बात और ये कर्मफल केवल इस जन्म के नहीं
ना जाने कितने जन्मों के संचित हैं
इसलिए उस परमपिता से धन दौलत ऐश्वर्य नहीं
सब जन्मों के जाने अनजाने गुनाहों की बख्शीश मांग -3

ये मत समझ की कोई देख नहीं रहा
उस मालिक के सी सी टीवी कैमरे
जमीन से आसमान तक
अँधेरे से उजाले तक
सूर्य से चंद्र तक सब देख रहे हैं -4

करोड़ों अरबों की भीड़ में भी तेरे दुष्कर्म या सत्क्रम
तुझे ढून्ढ निकालेंगे
ये कर्मफल वो बीज है जो या तो घनी छाँव देगा या देगा तपती धूप
ना दे दोष उसको क्यूंकि ये हैं तेरे कर्मों का फल
तेरा और केवल तेरा कर्मफल -कर्मफल -5

इसलिए लेना नहीं देना सीख
इसलिए अकड़ना नहीं झुकना सीख
इसलिए दान कर पुण्य कर सत्कर्म कर
क्यूंकि इसी धरती पर है तेरे कर्मों का
स्वर्गफल और नरकफल
तेरा कर्मफल -कर्मफल -कर्मफल -6

Affirmations :-
1-मैं हर क्षेत्र में कामयाब हो रहा हूँ …
2-मैं पूरे दिल से आज के दिन का स्वागत करता हूँ …
3-मुझे आज जो कुछ भी करना है,उसके लिए मैंने अच्छे से सोच रखा है …
4-मैं अपने जीवन का स्वामी हूँ …

5-मैं हर काम ईमानदारी से करता हूँ …
6-दुनिया की हर चीज़ मेरी सफलता के लिए काम कर रही है…!

बाकी कल ,खतरा अभी टला नहीं है ,दो गज की दूरी और मास्क 😷 है जरूरी ….सावधान रहिये -सतर्क रहिये -निस्वार्थ नेक कर्म कीजिये -अपने इष्ट -सतगुरु को अपने आप को समर्पित कर दीजिये ….!
🙏सुप्रभात 🌹
आपका दिन शुभ हो
स्वरचित स्वमौलिक
विकास शर्मा'”शिवाया”
🔱जयपुर -राजस्थान 🔱

102 Views
You may also like:
बुद्ध धाम
Buddha Prakash
वसंत का संदेश
Anamika Singh
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
अच्छा किया तुमने।
Taj Mohammad
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
*चाची जी श्रीमती लक्ष्मी देवी : स्मृति*
Ravi Prakash
अग्रवाल धर्मशाला में संगीतमय श्री रामकथा
Ravi Prakash
Feel it and see that
Taj Mohammad
जिंदगी क्या है?
Ram Krishan Rastogi
बाबू जी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
कोई तो हद होगी।
Taj Mohammad
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
✍️हम सब है भाई भाई✍️
"अशांत" शेखर
✍️"अग्निपथ-३"...!✍️
"अशांत" शेखर
जीवन
Mahendra Narayan
धर्म बला है...?
मनोज कर्ण
तुम मेरी हो...
Sapna K S
नीम का छाँव लेकर
सिद्धार्थ गोरखपुरी
सच्चे मित्र की पहचान
Ram Krishan Rastogi
तेरे दिल में कोई साजिश तो नहीं
Krishan Singh
जीवन इनका भी है
Anamika Singh
कुछ हंसी पल खुशी के।
Taj Mohammad
उपज खोती खेती
विनोद सिल्ला
सबको हार्दिक शुभकामनाएं !
Prabhudayal Raniwal
अभागीन ममता
ओनिका सेतिया 'अनु '
मत बना किसी को अपनी कमजोरी
Krishan Singh
पिता
Madhu Sethi
उम्मीद की रोशनी में।
Taj Mohammad
हवा के झोंको में जुल्फें बिखर जाती हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
रुतबा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...