Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

कर्मनिष्‍ठ बनना होगा

गीतिका (लावणी छंद)

कर्म पथिक जो होना है तो, कर्मनिष्ठ बनना होगा।
सत्यजीत जो होना है तो, सत्यनिष्ठ बनना होगा।

कंटकीर्ण होती हैं राहें, दिखे दूर गंतव्य बहुत,
कुछ विशिष्ठ जो होना है तो, उभयनिष्ठ बनना होगा।

ऋतुओं के अभिनव शृंगार, नैसर्गिक पहने धरती,
मर्यादित जो होना है तो, भव्यनिष्ठ बनना होगा।

त्रयम्बकेश्वर हालाहल पी, बन बैठे संकटमोचक,
इंद्रियजित जो होना है तो, वेद पृष्ठ बनना होगा।

‘आकुल’ प्रतिरोधों की ज्वाला, में तप कर निखरे सोना,
कुल किरीट जो होना है तो, गुरु वशिष्ठ बनना होगा।

167 Views
You may also like:
कुत्ते भौंक रहे हैं हाथी निज रस चलता जाता
Pt. Brajesh Kumar Nayak
आखिर तुम खुश क्यों हो
Krishan Singh
परिणय
मनोज कर्ण
श्री गंगा दशहरा द्वार पत्र (उत्तराखंड परंपरा )
श्याम सिंह बिष्ट
खुशियों की रंगोली
Saraswati Bajpai
💐ये मेरी आशिकी💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कशमकश
Anamika Singh
वाक्य से पोथी पढ़
शेख़ जाफ़र खान
" राजस्थान दिवस "
jaswant Lakhara
सद् गणतंत्र सु दिवस मनाएं
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*!* अपनी यारी बेमिसाल *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जीवन की सौगात "पापा"
Dr. Alpa H. Amin
💐तर्जुमा💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कभी हम भी।
Taj Mohammad
बंदर मामा गए ससुराल
Manu Vashistha
लूटपातों की हयात
AMRESH KUMAR VERMA
वो दिन भी बहुत खूबसूरत थे
Krishan Singh
तू एक बार लडका बनकर देख
Abhishek Upadhyay
पिता घर की पहचान
vivek.31priyanka
मेरा पेड़
उमेश बैरवा
अद्भभुत है स्व की यात्रा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
खूबसूरत एहसास.......
Dr. Alpa H. Amin
दूल्हे अब बिकते हैं (एक व्यंग्य)
Ram Krishan Rastogi
कुंडलियां छंद (7)आया मौसम
Pakhi Jain
डर कर लक्ष्य कोई पाता नहीं है ।
Buddha Prakash
पाँव में छाले पड़े हैं....
डॉ.सीमा अग्रवाल
भगवान परशुराम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नमन!
Shriyansh Gupta
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
"बदलाव की बयार"
Ajit Kumar "Karn"
Loading...