Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

कराहती धरती (पृथ्वी दिवस पर)

आओ हम लाज बचाये।
इस धरती पर पेड़ लगायें।।
सुखी धरती,निर्झर सूखे,
कूप सूखे तो रह जायेंगे भूखे।
आओ हम बून्द बचाये,
इस धरती पर पेड़ लगायें।।
रूठी नदियां,ताल भी रूठे,
वर्षा रूठी तो रहेंगे प्यासे।
चाहे कितने बांध बनाये,
इस धरती पर पेड़ लगायें।।
तोड़े उपवन,काटे तरुवन,
कैसे रुकेगा विस्तृत मरुवन।
आओ अग्रपीढ़ी बचाये,
इस धरती पर पेड़ लगायें।।
नंगी धरती,नंगे परवत,
कौन भरेगा इनमें रंग सत्।
आओ फिर से सावन बुलायें,
इस धरती पर पेड़ लगायें।।
भोगी सब है,ढोंगी सब है,
दोहन करते सब के हस्त है।
आओ धुएं की कालिख मिटाये,
इस धरती पर पेड़ लगायें।।
आओ अब तो जान बचाये।
इस धरती पर पेड़ लगायें।।
(रचनाकार-डॉ शिव’लहरी’)

3 Likes · 2 Comments · 398 Views
You may also like:
समय..
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
पिता पच्चीसी दोहावली
Subhash Singhai
माई री [भाग२]
Anamika Singh
प्यार
Swami Ganganiya
कबीर साहेब की शिक्षाएं
vikash Kumar Nidan
"मैं फ़िर से फ़ौजी कहलाऊँगा"
Lohit Tamta
“ राजा और प्रजा ”
DESH RAJ
ब्रह्म निर्णय
DR ARUN KUMAR SHASTRI
✍️"अग्निपथ-३"...!✍️
"अशांत" शेखर
सरस्वती कविता
Ankit Halke jha Official's
चश्मे-तर जिन्दगी
Dr. Sunita Singh
सुंदर सृष्टि है पिता।
Taj Mohammad
लोग जमसे गये है।
"अशांत" शेखर
अल्फाज़ ए ताज भाग-4
Taj Mohammad
ग़म की ऐसी रवानी....
अश्क चिरैयाकोटी
गीत -
Mahendra Narayan
सौ प्रतिशत
Dr Archana Gupta
मन को मत हारने दो
जगदीश लववंशी
नींबू के मन की वेदना
Ram Krishan Rastogi
यही तो मेरा वहम है
Krishan Singh
A wise man 'The Ambedkar'
Buddha Prakash
सार्थक शब्दों के निरर्थक अर्थ
Manisha Manjari
कविता क्या है ?
Ram Krishan Rastogi
🌺🌺प्रेम की राह पर-41🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बस इतनी सी ख्वाईश
"अशांत" शेखर
जिदंगी के कितनें सवाल है।
Taj Mohammad
वक्त सा गुजर गया है।
Taj Mohammad
आखिर तुम खुश क्यों हो
Krishan Singh
Motivation ! Motivation ! Motivation !
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
तमन्ना ए कल्ब।
Taj Mohammad
Loading...