Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Feb 2023 · 1 min read

करके कोई साजिश गिराने के लिए आया

करके कोई साजिश गिराने के लिए आया
जब भी मैं किसी को बचाने के लिए आया

उधेड़बुन में काटी है कई वर्षों की जिंदगी
कई ठौकरों के बाद जीने का सुरूर आया

✍कवि दीपक सरल

1 Like · 116 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम ढाल हो मेरी
तुम ढाल हो मेरी
गुप्तरत्न
■ आज की बात...
■ आज की बात...
*Author प्रणय प्रभात*
जिन्दगी की धूप में शीतल सी छाव है मेरे बाऊजी
जिन्दगी की धूप में शीतल सी छाव है मेरे बाऊजी
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
सोशलमीडिया की दोस्ती
सोशलमीडिया की दोस्ती
लक्ष्मी सिंह
चले जाना
चले जाना
Dr. Rajiv
चंद सिक्के उम्मीदों के डाल गुल्लक में
चंद सिक्के उम्मीदों के डाल गुल्लक में
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कहां खो गए
कहां खो गए
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि ’
हो जाऊं तेरी!
हो जाऊं तेरी!
Farzana Ismail
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
यहाँ किसे , किसका ,कितना भला चाहिए ?
_सुलेखा.
चंद फूलों की खुशबू से कुछ नहीं होता
चंद फूलों की खुशबू से कुछ नहीं होता
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कोई किसी का कहां हुआ है
कोई किसी का कहां हुआ है
Dr fauzia Naseem shad
" एक बार फिर से तूं आजा "
Aarti sirsat
अशोक महान
अशोक महान
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आ गई रंग रंगीली, पंचमी आ गई रंग रंगीली
आ गई रंग रंगीली, पंचमी आ गई रंग रंगीली
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
قفس میں جان جائے گی ہماری
قفس میں جان جائے گی ہماری
Simmy Hasan
लीकछोड़ ग़ज़ल
लीकछोड़ ग़ज़ल
Dr MusafiR BaithA
सुदूर गाँव मे बैठा कोई बुजुर्ग व्यक्ति, और उसका परिवार जो खे
सुदूर गाँव मे बैठा कोई बुजुर्ग व्यक्ति, और उसका परिवार जो खे
Shyam Pandey
[06/03, 13:44] Dr.Rambali Mishra: *होलिका दहन*
[06/03, 13:44] Dr.Rambali Mishra: *होलिका दहन*
Rambali Mishra
अगर मेरी मोहब्बत का
अगर मेरी मोहब्बत का
श्याम सिंह बिष्ट
*चुन मुन पर अत्याचार*
*चुन मुन पर अत्याचार*
Nishant prakhar
नारी हूँ मैं
नारी हूँ मैं
Kavi praveen charan
हल्ला बोल
हल्ला बोल
Shekhar Chandra Mitra
माॅ गोदी का आसन स्वर्ग सिंहासन💺
माॅ गोदी का आसन स्वर्ग सिंहासन💺
तारकेशवर प्रसाद तरुण
सफ़ेदे का पत्ता
सफ़ेदे का पत्ता
नन्दलाल सुथार "राही"
नीला अम्बर नील सरोवर
नीला अम्बर नील सरोवर
डॉ. शिव लहरी
"मेरे हमसफर"
Ekta chitrangini
दिमाग नहीं बस तकल्लुफ चाहिए
दिमाग नहीं बस तकल्लुफ चाहिए
Pankaj Sen
*उगा है फूल डाली पर, तो मुरझाकर झरेगा भी (मुक्तक)*
*उगा है फूल डाली पर, तो मुरझाकर झरेगा भी (मुक्तक)*
Ravi Prakash
चांद का झूला
चांद का झूला
Surinder blackpen
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...